महीनों लापता रहने के बाद अचानक सामने आए जैक मा, जोरों पर कंपनी अधिग्रहण की अफवाह 

आमतौर पर मिलनसार और मीडिया के बीच रहने वाले मा को आखिरी बार पिछले साल 25 अक्टूबर को शंघाई सम्मेलन सार्वजनिक रूप से देखा गया था. इस दौरान मा ने चीन के वित्तीय नियामकों की आलोचना की थी. उसके बाद से अफवाहों का बाजार गर्म है कि चीनी सरकार अलीबाबा का नियंत्रण अपने हाथों में ले सकती है.

महीनों लापता रहने के बाद अचानक सामने आए जैक मा, जोरों पर कंपनी अधिग्रहण की अफवाह 

अलीबाबा के संस्थापक जैक मा तीन महीने लापता रहने के बाद बुधवार, 20 जनवरी को अचानक फिर से सामने आए.

खास बातें

  • तीन महीने से लापता थे अलीबाबा के संस्थापक जैक मा
  • बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग में आए नजर
  • 100 ग्रामीण शिक्षकों को किया संबोधित, बोले- कोविड-19 के बाद फिर मिलेंगे

चीनी दिग्गज कंपनी अलीबाबा (Alibaba) के संस्थापक जैक मा तीन महीने लापता रहने के बाद आज (बुधवार, 20 जनवरी) अचानक फिर से सामने आए हैं. उन्हें एक वीडियो कॉन्फ्रेन्स में भाग लेते हुए देखा गया है. दुनियाभर में आलोचना और भारी दबाव के बीच चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स ने उनका एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें मा यह कह रहे हैं, "जब कोरोना वायरस खत्म हो जाएगा तो हम फिर मिलेंगे." इंटरनेशनल न्यूज एजेंसी BNO न्यूज ने भी जैक मा का वीडियो ट्वीट किया है.

चीन के लोकप्रिय उद्यमी जैक मा ने बुधवार को एक वार्षिक कार्यक्रम में ग्रामीण शिक्षकों को वीडियो कॉन्फ्रेंन्सिंग के जरिए संबोधित किया. ऑनलाइन प्रसारित होने वाले कार्यक्रम में मा ने चर्चा की कि कैसे अधिक से अधिक परोपकार किया जाना चाहिए. हालांकि, अलीबाबा संस्थापक ने लाइव स्ट्रीमिंग के दौरान अपने मौजूदा लोकेशन का कोई जिक्र नहीं किया. 

इस बीच, अलीबाबा के शेयरों में चार फीसदी का उछाल देखा गया. हालांकि, अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि जैक मा कहां हैं? चीनी सरकार द्वारा उनके इंटरनेट साम्राज्य के अधिग्रहण के अफवाहों के बीच वीडियो लाइवस्ट्रीमिंग में मा ने कहा, "हाल ही में मैंने अपने सहयोगियों के साथ सोच-विचार कर और अध्ययन कर खुद को शिक्षा परोपकार के लिए समर्पित करने का दृढ़ संकल्प किया है." मा ने कहा, "ग्रामीण पुनरोद्धार और आम आदमी की समृद्धि के लिए कड़ी मेहनत करना हमारी पीढ़ी के व्यवसायियों की ज़िम्मेदारी है."

30 कंपनियों से रिजेक्ट होने वाले जैक मा ऐसे बने चीन के सबसे अमीर आदमी

ग्लोबल टाइम्स की चीफ रिपोर्टर किंगक्विंग शेन ने ट्वीट किया, "जैक मा लापता नहीं हैं. उन्होंने बुधवार की सबह 100 ग्रामीण शिक्षकों को वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से संबोधित किया है और कहा है कि कोरोना वायरस कथ्म होते ही जल्द मिलेंगे."

शेन ने दूसरे ट्वीट में लिखा है,  "जैक मा, जो एक अंग्रेजी शिक्षक हुआ करते थे और # अलीबाबा के संस्थापक भी हैं, ने बुधवार को एक वीडियो के माध्यम से गाँव के शिक्षकों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आमतौर पर यह गतिविधि दक्षिणी हैनान के सान्या में आयोजित की जाती है, लेकिन इस साल # कोविड- 19 के कारण यह वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए आयोजित किया जा रहा है."


आमतौर पर मिलनसार और मीडिया के बीच रहने वाले मा को आखिरी बार पिछले साल 25 अक्टूबर को शंघाई सम्मेलन सार्वजनिक रूप से देखा गया था. इस दौरान मा ने चीन के वित्तीय नियामकों की आलोचना की थी. उसके बाद से अफवाहों का बाजार गर्म है कि चीनी सरकार अलीबाबा का नियंत्रण अपने हाथों में ले सकती है. इस अफवाह को तब और बल मिला जब जैक मा महीनों तक लापता रहे. पिछले दो महीनों से चीन की जिनपिंग सरकार पर भी दुनिया भर में उंगलियां उठ रही थीं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com