आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप : मुंबई के मशहूर डब्बावाले बने साझीदार, दुनिया की सैर करके लौटी ट्रॉफी

आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप :  मुंबई के मशहूर डब्बावाले बने साझीदार, दुनिया की सैर करके लौटी ट्रॉफी

आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप की ट्रॉफी के साथ डब्बा वाले।

मुंबई:

आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप की चमचमाती ट्रॉफी दुनिया के कई देशों से घूम फिरकर वापस मुंबई पहुंच गई। क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट के महाकुंभ को घर घर तक पहुंचाने के लिए आईसीसी ने मुंबई के मशहूर डब्बावालों को अपना साझीदार बनाया है।

 

धोनी औक कोहली को देखने की चाहत
मुंबई में डब्बावाले 125 साल पुरानी परंपरा संभाले हुए हैं। 5000 लोगों के हाथों से तकरीबन 2 लाख लोगों का खाना रोजाना पहुंचता है। मुंबई के डब्बावाले अब ग्लोबल हैं। इसी पहचान का फायदा इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने भी उठाया है, क्रिकेट के छोटू फॉर्मेट को और बड़ा बनाने के लिए। मुंबई में रोज डिब्बा पहुंचाने वाले दिगंबर का कहना है "आईसीसी का शुक्रिया जिन्होंने हमें इस लायक समझा। हमें लगता था कि यहां तक सिर्फ बड़े लोग आ सकते हैं, हम लोग धोनी और कोहली को देखना चाहते हैं।
 

ट्रॉफी का हुआ जोरदार स्वागत
मुंबई में वैसे तो भारत-पाकिस्तान के बीच मुकाबला नहीं है, लेकिन आईसीसी के खास मेहमानों को इसी खास मुकाबले का सबसे बेसब्री से इंतजार है। आईसीसी वर्ल्ड कप टी-20 की ट्रॉफी दिसंबर में मुंबई से निकली थी। 12 देशों से घूम-फिरकर वापस मुंबई पहुंच गई है। गाजे-बाजे, पूरे धूम धड़ाके के साथ मुंबई में इस ट्रॉफी का स्वागत हुआ। समीर दिघे और डायना एडुलजी जैसे पूर्व क्रिकेटर ट्रॉफी को लेकर वानखेड़े पहुंचे। इसी खुशी में मुंबई के डब्बावालों का भी ख़ास सम्मान हुआ।

8 मार्च से 3 अप्रैल तक क्रिकेट के महासमर में 16 टीमें जोर आजमाइश करेंगी। उम्मीद है धोनी के धुरंधर घरेलू पिच में सबको पछाड़कर ट्रॉफी को और कहीं जाने नहीं देंगे।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com