औरैया में मिली लावारिस कार, विकास दुबे के भागने में तो नहीं हुई इस्तेमाल ये पता करने में जुटी पुलिस

Kanpur Encounter: औरैया ज़िले के दिबियापुर इलाके में लेखन गेस्ट हाउस के पास यह कार वह से गुज़र रही पुलिस की एक PRV वैन को दिखी. कार का रजिस्ट्रेशन नंबर UP 32 GL 9252 लखनऊ का है.

औरैया में मिली लावारिस कार, विकास दुबे के भागने में तो नहीं हुई इस्तेमाल ये पता करने में जुटी पुलिस

Kanpur Encounter: उत्तर प्रदेश के औरैया में मिली लावारिस कार

लखनऊ:

कानपुर के चौबेपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मामला पूरे देश में चर्चा विषय बना हुआ है. हत्या का आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) अब तक पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है. पुलिस हर संभावना को टटोलने की कोशिश कर रही है ताकि विकास दुबे के बारे में सुराग मिल सके. इस बीच, औरैया जिले में एक लावारिस फोर्ड इको स्पोर्ट कार मिलने से सनसनी है. बताया जा रहा है कि यह गाड़ी किसी अमित दुबे के नाम पर रजिस्टर्ड है. इसकी जांच हो रही है कि कहीं यह कार विकास दुबे के भागने में तो नहीं इस्तेमाल हुई है? 

औरैया ज़िले के दिबियापुर इलाके में लेखन गेस्ट हाउस के पास यह कार वह से गुज़र रही पुलिस की एक PRV वैन को दिखी. कार का रजिस्ट्रेशन नंबर UP 32 GL 9252 लखनऊ का है. कार के आगे नंबर प्लेट पर "संघ परिवार" लिखा है और पीछे शीशे पर "अध्यक्ष भारतीय हिन्दू संगठन" लिखा हुआ है. पुलिस ने कार को कब्जे में ले लिया है. फॉरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंच कर जांच कर रही है. 

बता दें कि पुलिस ने फरार हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने के लिए गतिविधियां तेज कर दी हैं. पुलिस की दो दर्जन से ज्यादा टीमें विकास दुबे की खोज कर रही हैं. यही नहीं, पिछले 48 घंटों में 100 से अधिक स्थानों पर छापेमारी को तालाशी भी ली गई लेकिन फिलहाल पुलिस के हाथ कोई सु्राग नहीं है. 


पुलिस का मानना है कि विकास दुबे की गुरुवार देर रात हुई पुलिस की कार्रवाई का पहले से पता चल गया था, जिसकी वजह से उसने पूरी तैयारी कर रखी थी. पुलिस अब विकास दुबे के 'मुखबिर' का पता लगाने में जटी है. चौबेपुर थाने के ऊपर जांच बैठा दी गई है और थानाध्यक्ष विनय तिवारी को सस्पेंड कर दिया गया है. 

वीडियो: विकास दुबे के घर बुलडोजर चला, 40 थानों की पुलिस कर रही तलाश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com