''पोस्‍टमार्टम, अंतिम संस्‍कार में व्‍यस्‍त थे'' : मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी में देरी पर पुलिस अधिकारी ने दी सफाई

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को एफआईआर दर्ज होने के 24 घंटे बाद भी गिरफ्तार नहीं किया जा सका है.

''पोस्‍टमार्टम, अंतिम संस्‍कार में व्‍यस्‍त थे'' : मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी में देरी पर पुलिस अधिकारी ने दी सफाई

एफआईआर में आशीष मिश्रा को हत्‍या औरलापरवाही से मौत का आरोपी बनाया गया है

लखीमपुर खीरी:

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को एफआईआर दर्ज होने के 24 घंटे बाद भी गिरफ्तार नहीं किया जा सका है. यूपी के एक शीर्ष पुलिस अधिकारी ने इस निष्क्रियता को लेकर 'मासूम सा' जवाब देते हुए कहा है कि वे व्‍यस्‍त थे. लखनऊ जोन के एडीशनल डायरेक्‍टर जनरल (पुलिस) एसएन सबत (SN Sabat)ने  NDTV से बातचीत में कहा, 'हम पहले किसानों के साथ बातचीत, फिर पोस्‍टमार्टम और इसके बाद अंतिम संस्‍कार में व्‍यस्‍त थे. हम हर मामले में तय प्रक्रिया का पालन करते हैं और  इस मामले की पूरी जांच करेंगे. 'NDTV की ओर से यह पूछे जाने पर कि क्‍या मामले में हाईप्रोफाइल आरोपी के शामिल न होने की स्थिति में भी उनका ऐसा ही रवैया होता, एसएन सबत ने कहा, 'पुलिस का रुख पीड़‍ित के प्रति है न कि आरोपी के लिए. उन्‍होंने इस संबंध में और किसी प्रश्‍न का जवाब देने से इनकार कर दिया. '

दर्ज की गई एफआईआर में  आशीष मिश्रा को हत्‍या औरलापरवाही से मौत का आरोपी बनाया गया है. लखीमपुर खीरी में किसान  रविवार को केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा और राज्य के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे. किसान मिश्रा के हाल में दिए भाषण से नाराज थे. किसान नेताओं ने आरोप लगाया था कि मंत्री के बेटे के काफिले में शामिल वाहनों ने प्रदर्शन कर रहे किसानों को कुचला. इसके बाद हिंसा भड़क उठी और 4 किसानों के अन्य अलावा चार अन्य लोग भी मारे गए. इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है(एनडीटीवी इस वीडियो की सत्‍यता की पुष्टि नहीं करता), जिसमें दिखाया गया है कि एसयूबी ने प्रदर्शनकारियों को पीछे से टक्‍कर मारी,इसके कारण कई लोग कुचल गए. 

इस वीडियो में SUV कार नारेबाजी करते किसानों को रौंदते हुए जाती दिख रही है. लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हुई है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और आप नेता संजय सिंह ने इस वीडियो को शेयर किया है.किसानों ने यह भी आरोप लगाया है कि मारे गए चार लोगों में से  एक की मौत गोली के घाव के कारण हुई . किसानों का दावा है कि मंत्री के काफिले की एक कार के प्रदर्शनकारियों को रौंदने के बाद हिंसा भड़की. घटनास्थल से प्राप्त दृश्यों में आगजनी और वाहनों को आग लगाते हुए दिखाया गया है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- - ये भी पढ़ें - -
* 'किसी की भी आत्मा को झकझोर देगा'- लखीमपुर खीरी का वायरल वीडियो शेयर कर बोले BJP सांसद वरुण गांधी
* रेप पीड़िता की पहचान उजागर का मामला : दिल्ली हाईकोर्ट ने राहुल गांधी को नोटिस जारी करने से किया इनकार
* 'शाहरुख के दर्द में मजे लेने वालों से घृणा...' : आर्यन खान की गिरफ्तारी पर शशि थरूर की नसीहत