अब Zomato से ऑनलाइन ग्रोसरी ऑर्डर नहीं कर पाएंगे कस्टमर्स, इस वजह से बंद हो रही है ये सर्विस

Zomato अब इन-हाउस ग्रोसरी डिलिवरी का बिजनेस मॉडल चलाने की बजाय ग्रोफर्स में निवेश पर ही फोकस रखेगी. चूंकि ज़ोमेटो को इन-हाउस डिलिवरी से अपेक्षित सफलता नहीं मिली, इसलिए यह अपनी इस सर्विस को बंद कर रही है. 

अब Zomato से ऑनलाइन ग्रोसरी ऑर्डर नहीं कर पाएंगे कस्टमर्स, इस वजह से बंद हो रही है ये सर्विस

Zomato Grocery Delivery: 17 सितंबर से बंद हो जाएगी ज़ोमैटो की ये सर्विस. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

ऑनलाइन फूड डिलिवरी सेवा देने वाली कंपनी ज़ोमैटो (Zomato) पर अगले कुछ दिनों बाद ग्राहक ऑनलाइन ग्रोसरी यानी किराना सामान की डिलीवरी का ऑर्डर नहीं दे पाएंगे. कंपनी अपनी इस सेवा को बंद कर रही है. कंपनी ने रविवार को बताया कि उसने 17 सितंबर से किराना सामानों की अपनी डिलिवरी सेवा को बंद करने का फैसला किया है. कंपनी ने यह भी कहा कि उसका मानना है कि Grofers (किराना सामानों की डिलिवरी सेवा देने वाली कंपनी) में उसके निवेश से अपने खुद के मंच पर किराना सामानों की डिलिवरी सेवा की तुलना में उसके शेयरधारकों के लिए बेहतर नतीजे मिलेंगे.

कंपनी ने अपने किराना भागादीरों को भेजे एक ईमेल में कहा, 'जोमैटो अपने ग्राहकों को सर्वश्रेष्ठ सेवाएं देने और अपने व्यापार भागीदारों को वृद्धि के सबसे बड़े अवसर देने में विश्वास करती है. हमें नहीं लगता कि मौजूदा मॉडल हमारे ग्राहकों और व्यापार भागीदारों को इस तरह के लाभ दिलाने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है. इसलिए, हम 17 सितंबर, 2021 से किराना सामानों की अपनी पायलट डिलिवरी सेवा को बंद करना चाहते हैं.'

- - ये भी पढ़ें - -
* 'दिल टूट गया': ग्रोफर्स के फाउंडर ने कंपनी के 10-मिनट डिलिवरी पर नफरत फैलाने वालों को दिया जवाब
* WhatsApp ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी पर दिया जवाब, कहा Zomato, Ola, Aarogya Setu भी लेतें है डाटा: रिपोर्ट

यानी कि ज़ोमैटो अब इन-हाउस ग्रोसरी डिलिवरी का बिजनेस मॉडल चलाने की बजाय ग्रोफर्स में निवेश पर ही फोकस रखेगी. ग्रोफर्स का भी ग्रोसरी डिलिवरी बाजार में बड़ा मार्केट है और कंपनी इसी सेगमेंट पर फोकस करती है. चूंकि ज़ोमेटो को इन-हाउस डिलिवरी से अपेक्षित सफलता नहीं मिली, इसलिए यह अपनी इस सर्विस को बंद कर रही है. 


बता दें कि ज़ोमैटो अपनी ये सर्विस कुछ सेलेक्टेड जगहों पर देता था और इस सर्विस के तहत ग्राहकों को 45 मिनट के अंदर उनका ऑर्डर पहुंचाया जाता था. जुलाई में कंपनी ने एक मार्केटप्लेस मॉडल के तहत ग्रोसरी डिलिवरी सर्विस की शुरुआत की थी, जिसके जरिए ग्राहक अपने आसपास के इलाकों में स्थित दुकानों से ही सामान ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ज़ोमैटो के अलावा दूसरी ऑनलाइन फूड डिलिवरी प्लेटफॉर्म कंपनी भी है Swiggy, जो ऑनलाइन ग्रोसरी डिलिवरी की सेवा देती है. वहीं, एक और प्लेटफॉर्म है Dunzo, जो इस सेगमेंट में पॉपुलर है. ये दोनों ही प्लेटफॉर्म 15-20 मिनट में डिलिवरी देते हैं. इनका बिजनेस मॉडल भी अलग है क्योंकि ये खुद स्टोरिंग वगैरह मैनेज करते हैं, ऐसे में ज़ोमैटो ने भी इन-हाउस डिलिवरी पर फोकस न करने का फैसला किया है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)