वीजा रद्द होने के बाद जोकोविच ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, टेनिस जगत से आने लगे सोशल मीडिया रिएक्शन

अब जोकोविच मेलबर्न में इमिग्रेशन डिटेंशन सेंटर में ही रखा गया है. अदालत के अधिकारियों ने कहा कि न्यायाधीश एंथनी केली शाम 4:00 बजे  जोकोविक की अपील पर सुनवाई करेंगे.

वीजा रद्द होने के बाद जोकोविच ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, टेनिस जगत से आने लगे सोशल मीडिया रिएक्शन

सर्बिया के राष्ट्रपति ने कहा हम आपके साथ हैं

खास बातें

  • नोवाक जोकोविच को आस्ट्रेलिया में प्रवेश नहीं
  • कोर्ट पहुंचे जोकोविच
  • अभी मेलबर्न के इमिग्रेशन सेंटर में मौजूद
नई दिल्ली:

अब टेनिस की दुनिया के नंबर एक नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) ने गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया में डिपोर्ट होने के बाद कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है, मेलबर्न पंहुचते ही उनका वीजा रद्द कर दिया गया था. अब उनको मेलबर्न में इमिग्रेशन डिटेंशन सेंटर में ही रखा गया है. अदालत के अधिकारियों ने कहा कि न्यायाधीश एंथनी केली शाम 4:00 बजे  जोकोविक की अपील पर सुनवाई करेंगे.

यह पढ़ें- नोवाक जोकोविच को आस्ट्रेलिया में प्रवेश नहीं, वीजा भी रद्द किया गया

दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) का आस्ट्रेलिया में वीजा रद्द होने पर टेनिस जगत के अलावा राजनेताओं के भी बयान आने शुरू हो गए हैं. सर्बिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वुचिच ने कहा कि  मैनें नोवाक को बताया कि पूरा सर्बिया उनके साथ है और हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टेनिस खिलाड़ी की इस तरह प्रताड़ना पर तुरंत रोक लगे.  जोकोविच के कोच और 2001 विम्बलडन चैम्पियन गोरान इवानीसेविच ने कहा कि आस्ट्रेलिया की एकदम अलग तरह की यात्रा. 


यह पढ़ें- FOOTBALL: कोरोना के कारण आई लीग को किया गया स्थगित

आपको बता दें कि आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मौरिसन ट्विटर पर लिखा था कि जोकोविच का वीजा रद्द हो चुका है . नियम आखिर नियम है , खासकर जब बात सीमा की हो . कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है . हमारी कड़ी सीमा नीतियों की वजह से ही आस्ट्रेलिया में कोरोना मृत्युदर कम है .हमें सतर्क रहना होगा . उक्रेन के टेनिस खिलाड़ी सर्जी शखोवस्की ट्विटर पर  लिखा अगली बार से कोई आपसे बोले कि खेल और राजनीति को अलग रखना चाहिये तो छह जनवरी 2022 को याद रखना जब विशुद्ध राजनीतिक अहंकार की वजह से दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को ऐसे देश में प्रवेश नहीं दिया गया जहां सरकारी संस्थानों को प्रवेश मिल रहा था .

अमेरिकी टेनिस खिलाड़ी टेनिस सैंडग्रेन ट्विटर पर लिखा एक बात साफ है कि दो अलग अलग मेडिकल बोर्ड ने उसे छूट देने को मंजूरी दी . अब राजनेता इसे रोक रहे हैं आस्ट्रेलिया ग्रैंडस्लैम की मेजबानी का हकदार ही नहीं है .

जोहानिसबर्ग टेस्ट में नहीं खेले विराट कोहली, क्रोनोलॉजी से क्या समझें?

. ​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com