मुंबई और आसपास के इलाकों में जानलेवा होते जा रहे सड़क के गड्ढे

मुंबई और आसपास के इलाकों में जानलेवा होते जा रहे सड़क के गड्ढे

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

खास बातें

  • विजय की बाइक गड्ढे की वजह से गिर गई तभी एक ट्रक ने उन्हें रौंद दिया
  • परिवार गड्ढों के लिये जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई चाहता है
  • एक गड्ढे ने विजय के सपनों, उनके अपनों को दूर बहुत दूर कर दिया
मुंबई:

मुंबई और आसपास के इलाकों में सड़कों पर गड्ढे जानलेवा होते जा रहे हैं. कल्याण में भिवंडी रोड के नजदीक बैंक मैनेजर विजय केंद्रे की मोटरसाइकिल गड्ढे की वजह से गिर गई तभी एक तेज रफ्तार ट्रक ने उन्हें रौंद दिया.

पुलिस ने आरोपी ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन परिवार सड़क पर पड़े गड्ढों के लिये जिम्मेदार ठेकेदार और अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई चाहता है. विजय की पत्नी पूनम केंद्रे बोलने से ज्यादा बिलख पड़ती हैं, समझ नहीं आ रहा अपने बच्चे को कैसे समझाएं कि पिता अब कभी दफ्तर से घर नहीं आएंगे. कहती हैं कल्याण-भिवंडी रोड पर सड़क पर पड़े गड्ढों ने निजी बैंक में मैनेजर उनके पति विजय केंद्रे की जान ले ली. उन्होंने सिर्फ इतना कहा, "गड्ढे ने जान ले ली है, हमको छोड़ कर चले गये."

भिवंडी-कल्याण सड़क पर विजय का हेलमेट अब भी पड़ा है, उनके पीछे बैठे अमित पाठक का कहना है, ''दो गड्ढे उन्होंने पार कर लिये लेकिन तीसरे में उनकी मोटरसाइकिल गिर गई, इतने में पीछे से आ रहे ट्रक ने उन्हें रौंद दिया. हम लोग आ रहे थे, एक गड्ढा आया उसे संभाला, तभी दूसरा आया हम संभाल नहीं पाए गिर गये. उसका सिर ट्रक के नीचे आ गया, मैं पीछे बैठा था, रिक्शा रोकने की कोशिश की लेकिन कोई नहीं रुका, आधे घंटे में पुलिसवाले आए.''

कोणगांव पुलिस ने आरोपी ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन परिजनों का कहना है कि असली दोष सड़क बनाने वाले ठेकेदार और अधिकारियों का है. विजय के पड़ोसी प्रमोद शिंदे ने कहा, "प्रशासन जिम्मेदार है, गड्ढे ने उसकी जान ली, उसके जाने की वजह से जो नुकसना हुआ है परिवार को वो कौन भरके देगा. वहीं उनके साले अमित लोखंडे ने कहा, "रास्ते का काम होता तो मेरे जीजा की जान नहीं जाती, सरकार जिम्मेदार है. घर पर आ रहे थे, दो गड्ढा बचा लिया, तीसरे पर गिर गये. छोटा लड़का है, क्या करेगा अभी. अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिये."

टिटवाला के अभिदर्शन गार्डन में रहने वाले विजय को हाल ही में प्रमोशन मिला था. दस दिन पहले उन्हें अच्छे काम के ऐवज में सम्मानित भी किया गया था. लेकिन एक गड्ढे ने उनके सपनों, उनके अपनों को दूर बहुत दूर कर दिया.

(साथ में इनपुट स्‍वदेश...)


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com