VIDEO: MP गजब है, नदी पर पुल न होने के कारण बाढ़ में शव को ट्यूब पर ले जाने को मजबूर हुए ग्रामीण

वीडियो अनूपपुर और डिंडोरी जिले के बीच नर्मदा नदी का बताया जा रहा है, जहां अनूपपुर जिले के ग्राम ठाड़पथरा एवं डिंडोरी जिले के बजाग जनपद क्षेत्र की ग्राम पथरकूचा के बीच नर्मदा नदी बहती है.

VIDEO: MP गजब है, नदी पर पुल न होने के कारण बाढ़ में शव को ट्यूब पर ले जाने को मजबूर हुए ग्रामीण

शव को ट्रक के ट्यूब से बांधकर नदी को पार करते हुए ग्रामीण

भोपाल :

Madhya Pradesh News: देश ने कल आजादी का अमृत महोत्‍सव मनाया, जश्‍न के इस माहौल के बीच मध्‍य प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य जिले डिंडोरी से एक ऐसा वीडियो सामने आया है जिसे देख दिल कांप जाता है. दरअसल, अनूपपुर जिले के ठाड़पाठर गांव से एक मरीज को निकटवर्ती डिंडोरी जिला चिकित्सालय में भर्ती किया गया जहां इलाज के दौरान उसे मृत घोषित कर दिया गया. इस व्यक्ति के शव को सरकारी एम्बुलेंस की मदद से गांव भेजा गया लेकिन यहां डिंडौरी के गांव को अनूपपुर के दूसरे गांव से जोड़ने वाली नर्मदा नदी पर पुल न होने और अधिक बारिश के चलते बाढ़ जैसी स्थिति निर्मित होने के चलते एम्बुलेंस नदी तक जाकर रुक गई. ऐसी स्थिति में ग्रामीणों ने मृतक के शव को ट्रक के ट्यूब पर रखा और तैरते हुए जान जोखिम में डालकर शव को गांव पहुंचाया. तब जाकर मृतक का अंतिम संस्कार किया जा सका.

जानकारी के अनुसार, वीडियो अनूपपुर और डिंडोरी जिले के बीच नर्मदा नदी का बताया जा रहा है, जहां अनूपपुर जिले के ग्राम ठाड़पथरा एवं डिंडोरी जिले के बजाग जनपद क्षेत्र की ग्राम पथरकूचा के बीच नर्मदा नदी बहती है. जहां बाढ़ आने से ऐसे मुश्किलभरे हालात निर्मित हुए हैं. अनूपपुर जिले के ठाड़पथरा निवासी 55 वर्षीय विशमत नंदा को दिल का दौरा पड़ने पर परिजन और ग्रामीण इलाज के लिए नजदीकी डिंडोरी जिला चिकित्सालय लेकर पहुंचे थे. नर्मदा नदी में बाढ़ के चलते उन्हें अस्‍पताल पहुंचाने के लिए ट्यूब का सहारा लेना पड़ा था लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. जिला चिकित्सालय में इलाज के दौरान रविवार दोपहर उन्‍होंने दम तोड़ दिया.

सरकारी एम्बुलेंस की मदद से मृतक के पार्थिक शरीर को बजाग जनपद क्षेत्र के ग्राम पथरकूचा तक लाया गया, जहां से बाढ़ग्रस्त नर्मदा नदी को ट्यूब के सहारे परिजन व ग्रामीण तैरकर गांव ठाड़पथरा लेकर पहुंचे. तब जाकर विशमत नंदा का अंतिम संस्कार किया जा सका. ग्रामीणों का कहना है कि हर बारिश में ऐसे हालात बनते हैं जिसके कारण ठाड़पथरा के ग्रामीणों को इलाज सहित दूसरी आवश्यकता के लिए एकमात्र मार्ग से आवागमन करना पड़ता है, जहां पर पुल बनाया जाए ताकि आगामी समय में ऐसी परेशानियों का सामना ग्रामीणों को न करना पड़े.

* जम्मू-कश्मीर के पहलगाम में 39 सुरक्षाकर्मियों को ले जा रही बस खाई में गिरी, 6 जवानों की मौत
* 'जानबूझकर हटाई नेहरू जी की तस्वीर', ममता बनर्जी पर बरसी कांग्रेस
* नीतीश कुमार कैबिनेट का विस्तार, RJD का रहा दबदबा, देखें लिस्ट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली में जल्द ही कैब चलाती नजर आएंगी महिलाएं