Video : मछुआरे के हाथ लगीं 'सोने के दिल' वाली मछलियां, करोड़पति बन गया मछुआरा

घोल मछली में कई औषधीय गुण होते हैं.  जिसका इस्तेमाल दवाई बनाने के लिए होता है. इसलिए एक मछली की कीमत हजारों में होती है. इसलिए इसे सोने के दिल वाली मछली भी कहते हैं.

Video : मछुआरे के हाथ लगीं 'सोने के दिल' वाली मछलियां, करोड़पति बन गया मछुआरा

पालघर के मछुआरे के जाल में 150 के करीब घोल मछलियां फंसींं

मुंबई :

Maharashtra : महाराष्‍ट्र (Maharashtra)  के मछुआरे चंद्रकांत तरे रातोंरात ही करोड़पति बन गए हैं. राजधानी मुम्बई से सटे जिले पालघर के इस  मछुआरे की ऐसी लाटरी लगी है जिसकी उसने सपने में भी कल्पना नही की थी. यह मछुआरा मछली बेचकर रातोंरात करोड़पति बन गया. हुआ ये कि पालघर जिले के मुरबे गांव के मछुआरे चंद्रकांत तरे की नाव मानसून में मछली पकडने पर प्रतिबंध हटने के बाद समुद्र में गई थी. 28 अगस्त को जब समुद्र में जाल भारी हुआ तो उसे बाहर खींचा गया. नाव पर सवार सभी ये देखकर हैरान हो गए कि जाल में 150 के करीब घोल मछलियां थी. इतनी बड़ी संख्या में घोल मछलियां देख सभी खुशी से झूम उठे और वीडियो भी बनाया. किनारे आने पर जब मछली की बोली लगाई गई तो उसके 1 करोड़ 33 लाख के करीब की बोली लगी. 

दरअसल, घोल मछली में कई औषधीय गुण होते हैं.  जिसका इस्तेमाल दवाई बनाने के लिए होता है. इसलिए एक मछली की कीमत हजारों में होती है.

fimk1fo8

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसलिए इसे सोने के दिल वाली मछली भी कहते हैं. चंद्रकांत के बेटे सोमनाथ ने फोन पर NDTV से सौदा तय होने की पुष्टि की लेकिन ये बताया कि अभी सौदा पूरा होना बाकी है. सोमनाथ के मुताबिक घोल मछली के पेट मे एक थैली होती है जिसकी बहुत मांग है.