अगर योगी आदित्यनाथ शांति स्थापित कर सकते हैं, तो अशोक गहलोत क्यों नहीं? : वसुंधरा राजे

वसुंधरा राजे ने आरोप लगाया कि कन्हैयालाल की हत्या के लिए पूरी तरह से राज्य सरकार जिम्मेदार है. यदि कोई भी सरकार प्रदेश के नागरिक को मांगने पर भी सुरक्षा उपलब्ध नहीं करा सकती, तो उसे सत्ता में बने रहने का कोई हक नहीं है.

अगर योगी आदित्यनाथ शांति स्थापित कर सकते हैं, तो अशोक गहलोत क्यों नहीं? : वसुंधरा राजे

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने अशोक गहलोत पर साधा निशाना...

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने उदयपुर में कन्हैयालाल की निर्मम हत्या को लेकर राज्य की कांग्रेस नीत सरकार पर निशाना साधा है. राजे ने कहा कि ‘जब उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ऐसे आतंक के वातावरण को ख़त्म कर वहां शांति स्थापित सकते हैं तो राजस्थान में अशोक गहलोत ऐसा क्यों नहीं कर सकते.' उन्होंने कहा कि लोगों में ख़ौफ़ और असुरक्षा की भावना पैदा हो गई है जिसे खत्म किया जाना चाहिए. भाजपा नेता राजे ने हत्याकांड के आरोपियों के लिए मौत की सजा की मांग की और बदलते समय में नए अपराधों से निपटने के लिए पुलिस बल को आधुनिक प्रशिक्षण देने की भी वकालत की.

ये भी पढ़ें-  '2611' : उदयपुर हत्याकांड के आरोपी ने बाइक नंबर के लिए अलग से दिए थे 5000 रुपये - सूत्र

दर्जी कन्हैयालाल के परिजनों से उनके आवास पर मिलने के बाद राजे ने मीडिया से बातचीत की. उन्होंने कहा कि रोज मेहनत करके परिवार का पेट पालने वाले कन्हैयालाल को गहलोत नीत सरकार से सुरक्षा मिल जाती तो उनकी हत्या नहीं होती. राजे ने आरोप लगाया कि कन्हैयालाल की हत्या के लिए पूरी तरह से राज्य सरकार जिम्मेदार है. यदि कोई भी सरकार प्रदेश के नागरिक को मांगने पर भी सुरक्षा उपलब्ध नहीं करा सकती, तो उसे सत्ता में बने रहने का कोई हक नहीं है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि जब उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आतंक के माहौल को ख़त्म कर यूपी में शांति स्थापित कर सकते हैं, तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत यहां ऐसा क्यों नही कर सकते. भाजपा नेता राजे ने कहा कि अब डंडो से गश्त करने वाले पुलिसकर्मियों की व्यवस्था नहीं चलेगी और साइबर अपराध जैसे नए तरह के अपराधों से निपटने के लिये पुलिसकर्मियों को आधुनिक प्रशिक्षण की जरूरत है. राजे के साथ भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी और अन्य नेता भी थे.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)