विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 23, 2023

मैनपुरी उपचुनाव में पर्यटन मंत्री ने की थी सपा की मदद: अखिलेश यादव ने किया दावा

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दावा किया कि राज्य के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ठाकुर जयवीर सिंह ने पिछले साल दिसंबर में हुए मैनपुरी लोकसभा के उपचुनाव में सपा को मिली जीत में अंदर ही अंदर पार्टी की मदद की थी.

Read Time: 23 mins
मैनपुरी उपचुनाव में पर्यटन मंत्री ने की थी सपा की मदद: अखिलेश यादव ने किया दावा
अखिलेश यादव ने कहा कि पर्यटन मंत्री कब दूसरे के साथ पर्यटन कर लेंगे, आपको पता ही नहीं है. (फाइल)
लखनऊ :

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को दावा किया कि राज्‍य की मौजूदा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली सरकार के पर्यटन मंत्री ठाकुर जयवीर सिंह ने पिछले साल हुए लोकसभा उपचुनाव में सपा की मदद की थी. मंत्री ने सपा मुखिया के इस दावे को उनकी बौखलाहट करार देते हुए कहा है कि हाल में हुए सहकारी समितियों के चुनाव में सपा को मिली करारी हार की वजह से यादव का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यहां संवाददाता सम्मेलन में दावा किया कि राज्य के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ठाकुर जयवीर सिंह ने पिछले साल दिसंबर में हुए मैनपुरी लोकसभा के उपचुनाव में सपा को मिली जीत में अंदर ही अंदर पार्टी की मदद की थी.

Advertisement

यादव ने संवाददाताओं द्वारा पूछे गए एक सवाल पर कहा, ‘‘पर्यटन मंत्री कब किसी दूसरे के साथ पर्यटन कर लेंगे, यह आपको पता ही नहीं है. पहले भी वह पर्यटन कर चुके हैं.''

उन्होंने कहा, ‘‘मैनपुरी (लोकसभा) उपचुनाव में उन्होंने समाजवादी पार्टी को जिताया. वह (पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह) अंदर ही अंदर समाजवादी पार्टी से मिले थे.''

गौरतलब है कि पिछले साल दिसंबर में हुए मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में सपा प्रत्याशी और अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव ने जीत दर्ज की थी. यह सीट सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन के कारण रिक्त हुई थी.

इस बीच, पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह ने ‘पीटीआई-भाषा' से बातचीत में अखिलेश के दावे को गलत करार देते हुए इसे उनकी बौखलाहट का नतीजा बताया.

Advertisement

उन्होंने कहा, ‘‘अखिलेश यादव की पार्टी को जनता ने पहले पांच साल के लिए पर्यटन पर भेजा और दोबारा फिर से वहीं भेज दिया. यह अखिलेश यादव की बौखलाहट है. कभी वह राज्य सरकार के एक उप मुख्यमंत्री से कहते हैं कि 100 विधायक लेकर आओ तो हम तुम्हें मुख्यमंत्री बना देंगे, तो कभी यही बात दूसरे उप मुख्यमंत्री से कहते हैं. उनका मानसिक संतुलन बिगड़ गया है.''

सिंह ने कहा कि हाल में हुए सहकारी समितियों के चुनाव में अखिलेश अपने गढ़ कहे जाने वाले मैनपुरी में अपनी पार्टी की करारी हार से सदमे में हैं इसीलिए तरह-तरह के अनर्गल दावे कर रहे हैं.

Advertisement

अखिलेश यादव ने संवाददाता सम्मेलन में अमेठी में एक व्यक्ति के साथ रह रहे सारस को वन विभाग द्वारा पक्षी विहार में भेजे जाने की घटना को लेकर सरकार पर बुधवार को निशाना साधा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तरफ इशारा करते हुए कहा कि अगर सरकार सारस छीन रही है तो उन लोगों से मोर भी छीन लेना चाहिये जो उसे दाना खिला रहे थे.

यादव ने यहां संवाददाता सम्मेलन में अमेठी के जामो क्षेत्र में आरिफ नामक व्यक्ति के साथ पिछले करीब एक साल से रह रहे सारस को वन विभाग की टीम द्वारा मंगलवार को रायबरेली के समस्तपुर पक्षी विहार में भेजे जाने का जिक्र करते हुए आरोप लगाया कि सरकार ने वह सारस सिर्फ इसलिये ‘छीना' क्योंकि वह बीते पांच मार्च को आरिफ और उस सारस से मुलाकात करने और बधाई देने चले गये थे.

Advertisement

पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए उनका नाम लिये बगैर कहा, ‘‘सरकार अगर सारस को छीन रही है तो सरकार को उनसे भी मोर छीन लेना चाहिए जो उसे दाना खिला रहे थे. क्या सरकार की हिम्मत है वहां पहुंच जाने की। यह सरकार ने सिर्फ इसलिए किया क्योंकि सारस और उसे पालने वाले आरिफ से मैं मिलकर आ गया. सरकार ने उस सारस को कैद कर लिया है. सरकार बताए कि आखिर उसने सारस को कहां कैद किया है.''

गौरतलब है कि करीब दो साल पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का एक वीडियो मीडिया में आया था जिसमें वह मोर को दाना खिला रहे थे. इसे लेकर खासी चर्चाएं हुई थीं.

Advertisement

संवाददाता सम्मेलन के दौरान मंच पर आरिफ भी मौजूद थे. आरिफ का साथी बनकर रह रहे सारस को वन विभाग की टीम ने रायबरेली के समस्तपुर पक्षी विहार में भेज दिया है. विभागीय अधिकारियों का दावा है कि अमेठी के जामो विकास खंड के मंडखा निवासी आरिफ के साथ रह रहे सारस को उसके प्राकृतिक परिवेश में पहुंचाने के लिये मंगलवार को रायबरेली के ऊंचाहार समस्तपुर पक्षी विहार में भेज दिया गया है. विभाग की टीम ने आरिफ से मुलाकात कर इसके लिये सहमति भी ली थी. हालांकि आरिफ ने इससे इनकार किया है.

पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि राज्य की भाजपा सरकार न सिर्फ किसानों और आम लोगों की दुश्मन है बल्कि पेड़ों और पक्षियों की भी दुश्मन है.

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे याद है कि हमारी सरकार ने इटावा में सारस संरक्षण के लिए एक शोध केंद्र की योजना बनाई थी, उसे भी सरकार ने बंद कर दिया. इटावा में सारस का संरक्षण केंद्र बन रहा था, उसे इस सरकार ने छीन लिया. सारस मित्र बनाए जा रहे थे, लेकिन सरकार ने उनका मानदेय खत्म कर दिया. पक्षी महोत्सव होते थे, उन्हें भी खत्म कर दिया. भाजपा वालों से आप उम्मीद नहीं कर सकते कि वे पर्यावरण के लिए भी कुछ कर सकते हैं.''

पूर्व मुख्यमंत्री ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह संविधान को खत्म करने के लिए काम कर रही है. उसका एक-एक कदम लोकतंत्र को खत्म करने के लिए है.

इससे पहले, अखिलेश ने सपा नेता प्रमोद त्यागी द्वारा लिखित किताब ‘कुंती: अंतर्कथा' का विमोचन भी किया.

ये भी पढ़ें:

* उज्बेकिस्तान कफ सीरप मौत मामला: नोएडा की दवा कंपनी का लाइसेंस रद्द
* Earthquake: जब अचानक कांपने लगी धरती, जान बचाने के लिए घरों से बाहर भागे लोग
* नकदी, 11 पिस्टल, जिंदा कारतूस और मैगजीन, अतीक अहमद के कार्यालय से पुलिस को मिला हथियारों का जखीरा

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
9 महीने पेट में पाला, एक पल में आग ने छीना : उन 6 मां का दर्द जिन्होंने खो दिए घर के 'चिराग'
मैनपुरी उपचुनाव में पर्यटन मंत्री ने की थी सपा की मदद: अखिलेश यादव ने किया दावा
अंबाला में बड़ा हादसा : वैष्णो देवी जा रही मिनी बस ट्रक से टकराई, 7 की मौत, 20 से ज्यादा घायल
Next Article
अंबाला में बड़ा हादसा : वैष्णो देवी जा रही मिनी बस ट्रक से टकराई, 7 की मौत, 20 से ज्यादा घायल
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;