विज्ञापन
Story ProgressBack

PAK सेना के पूर्व कमांडो और लश्कर आतंकियों ने पुंछ में किया था IAF के काफिले पर हमला, सामने आई तस्वीरें

भारतीय वायुसेना के काफिले पर हमला करने वाले तीनों आतंकियों की पहचान पूर्व पाकिस्तानी सेना कमांडो इलियास, प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर हदून या हदून और अबू हमजा के तौर पर हुई.

PAK सेना के पूर्व कमांडो और लश्कर आतंकियों ने पुंछ में किया था IAF के काफिले पर हमला, सामने आई तस्वीरें
जम्मू-कश्मीर पुलिस ने तीनों आतंकियों के स्केच जारी किए हैं.
श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुंछ (Poonch Attack)जिले में 4 मई को भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) के काफिले पर हमला करने वाले 3 आतंकियों की पहचान हो गई है. सेना ने बुधवार (8 मई) को तीनों आतंकियों की तस्वीरें जारी की. ये तस्वीरें CCTV फुटेज से ली गई हैं. 4 मई को आतंकी हमले में कॉर्पोरल रैंक के विक्की पहाड़े (Corporal Vikky Pahade) शहीद हो गए थे. जबकि उनके 4 सहयोगी जवान जख्मी हो गए थे. वायुसेना के काफिले पर हमला करने वाले तीनों आतंकियों की पहचान पाकिस्तानी सेना के पूर्व कमांडो इलियास, प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर हदून या हदून और अबू हमजा के तौर पर हुई. ये उनके कोड नेम हैं.

जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक, कथित तौर पर तीनों आतंकवादियों ने वायुसेना के काफिले पर हमले के लिए हाई पावर वाली असॉल्ट राइफलों, अमेरिका में बनी M 4 और रूस में बनी AK-47 का इस्तेमाल किया. पुंछ में ये इस साल अब तक का सबसे बड़ा आतंकी हमला था. 

जम्मू-कश्मीर: वायुसेना के काफिले पर हुए हमले में एक सैनिक शहीद, 4 घायल, सर्च ऑपरेशन जारी

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जारी किए स्केच
जम्मू-कश्मीर पुलिस ने तीनों आतंकियों के स्केच जारी किए हैं. हमज़ा को मध्यम कद और गोरे रंग का बताया गया है. उसकी उम्र 30 से 32 साल के बीच है और बाल कटे हुए हैं. हमजा को आखिरी बार ब्राउन कलर के शॉल और ऑरेंज कलर के बैग के साथ पठानी सूट पहने देखा गया था. उसकी गिरफ्तारी के लिए सूचना देने वाले को 10 लाख रुपये का इनाम देने की पेशकश की गई है.

राजौरी इलाकों में भी हुए हमले
वायुसेना के काफिले पर हमले से पहले बीते कुछ हफ्तों में पुंछ और राजौरी इलाकों में कई आतंकवादी हमले हुए. इन्हीं हमलों  राजौरी के शादरा शरीफ इलाके में एक 40 वर्षीय सरकारी कर्मचारी मोहम्मद रजाक की एक मस्जिद के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

वायुसेना के काफिले पर हमला : 7 मई को बेटे का जन्मदिन मनाने घर आनेवाले थे विक्की पहाड़े, हुए शहीद

हमलावरों ने किया M4 असॉल्ट राइफलों का इस्तेमाल
मोहम्मद रजाक समाज कल्याण विभाग में काम करते थे. हमलावरों ने अमेरिका में निर्मित M4 असॉल्ट राइफल और एक पिस्तौल का इस्तेमाल किया था. हमले के दौरान मोहम्मद रजाक के भाई भी साथ थे. आतंकियों ने उनको अगवा करने की भी कोशिश की थी. हालांकि, वो सुरक्षित बच निकलने में कामयाब रहे. सुरक्षा अधिकारियों ने संकेत दिया कि उस हमले के पीछे अबू हमजा नाम के आतंकी का हाथ था. 

बता दें कि पुंछ अनंतनाग-राजौरी संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है. यहां लोकसभा चुनाव के छठे फेज में 25 मई को वोट डाले जाएंगे.

पुंछ हमला सुरक्षा विफलता नहीं; क्षेत्र में आतंकवाद अब भी जीवित है: उमर अब्दुल्ला

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rain Alert: मुंबई से नागपुर तक भारी बारिश की चेतावनी, गुजरात के पोरबंदर का भी बुरा हाल; UP में गंगा में उफान
PAK सेना के पूर्व कमांडो और लश्कर आतंकियों ने पुंछ में किया था IAF के काफिले पर हमला, सामने आई तस्वीरें
लाडली बहन के बाद अब लाडला भाई योजना, हर महीने मिलेंगे 10 हजार, पढ़ें इस योजना में क्या कुछ है खास
Next Article
लाडली बहन के बाद अब लाडला भाई योजना, हर महीने मिलेंगे 10 हजार, पढ़ें इस योजना में क्या कुछ है खास
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;