विज्ञापन
Story ProgressBack

"दरबारियों ने महिलाओं...":'नारी शक्ति' पर जयराम रमेश की टिप्‍पणी पर भड़कीं स्‍मृति ईरानी

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने पिछले 10 वर्षों में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय पर "भारी विफलताओं" का आरोप लगाया. इस पर पलटवार करते हुए स्‍मृति ईरानी ने जयराम को गांधी परिवार का 'दरबारी' करार दे दिया.

Read Time: 3 mins
"दरबारियों ने महिलाओं...":'नारी शक्ति' पर जयराम रमेश की टिप्‍पणी पर भड़कीं स्‍मृति ईरानी
जब मूर्ख दूसरे को मूर्ख बनाने की कोशिश करते हैं, तो... स्‍मृति ईरानी का कांग्रेस पर तंज
नई दिल्‍ली:

आगामी लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस और भाजपा के बीच जमकर आरोप-प्रत्‍यारोप किये जा रहे हैं. इस बीच केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने यह आरोप लगाने के लिए कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश की आलोचना की है कि भाजपा सरकार के 'नारी शक्ति' के नारे "वास्तविक कार्रवाई के बिना सिर्फ शब्द बनकर रह गए हैं." महिलाओं से संबंधित मुद्दों पर केंद्र सरकार की कांग्रेस की आलोचना पर हमला करते हुए, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर अपने पोस्ट में जयराम रमेश को गांधी परिवार का "दरबारी" करार दिया. 

स्‍मृति ईरानी ने कहा, "बहुत लंबे समय से वंशवादी शासक भारत के असली उत्तराधिकारियों ने इसकी संपत्ति लूट ली है. उनके पतन के बाद भी, उनके दरबारियों ने महिलाओं के कल्याण के लिए भाजपा सरकार के प्रयासों को कमजोर करने के लिए तथ्यों को विकृत करना और आंकड़ों में हेरफेर करना जारी रखा है."

सोमवार को कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने पिछले 10 वर्षों में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय पर "भारी विफलताओं" का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि जून 2024 में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार बनने से "महिलाओं के लिए 10 साल का अन्याय" खत्म हो जाएगा. उन्होंने आरोप लगाया कि 10 वर्षों से डब्ल्यूसीडी मंत्रालय ने केवल "अक्षमता, उदासीनता और महिला विरोधी मानसिकता" देखी है.

कांग्रेस के आरोप के बाद, स्मृति ईरानी ने एक्स पर एक लंबा-चौड़ा मैसेज पोस्ट किया, जिसमें कहा, "जब मूर्ख दूसरे को मूर्ख बनाने की कोशिश करते हैं, तो वे वास्तव में दर्शाते हैं कि कि वे कितने मूर्ख हैं. स्पष्ट उत्तराधिकारी के साथ एहसान करने की एक ज़बरदस्त और कुछ हद तक दयनीय कोशिश में, एक निश्चित दरबारी ने अनजाने में अपनी स्पष्ट अक्षमता को उजागर कर दिया है. बौद्धिकता की आड़ में उनके गुमराह प्रयासों के परिणामस्वरूप महिला और बाल विकास मंत्रालय की भूमिका और जनादेश की शर्मनाक गलत व्याख्या हुई है."

स्‍मृति ईरानी ने कहा, "अयोग्य दरबारी एनसीआरबी के आंकड़ों पर पर्दा डालते हैं और मोदी सरकार की पहलों को स्पष्ट रूप से नजरअंदाज करते हैं, जिन्होंने महिलाओं को साहसपूर्वक अपराधों की रिपोर्ट करने के लिए प्रोत्साहित किया है, साथ ही महिलाओं के खिलाफ अपराध से निपटने के लिए जोरदार प्रयासों का नेतृत्व किया है." उन्होंने कहा, ''चयनात्मक भूलने की बीमारी के निर्लज्ज प्रदर्शन में, वह यूपीए द्वारा निर्भया फंड की स्थापना को स्वीकार करते हैं, फिर भी इस स्पष्ट तथ्य को आसानी से छोड़ देते हैं कि 2014 तक इस फंड से एक भी रुपया खर्च नहीं किया गया था. 2014 में मोदी शासन के तहत, निर्भया फंड के माध्यम से देश भर में कुल 40 परियोजनाएं शुरू की गई. वित्त वर्ष 2023-24 तक, कुल 7212.85 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जिनमें से 75 प्रतिशत पहले ही हो चुका है, इसका उपयोग केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा कार्यान्वित पहलों पर किया गया है."

ये भी पढ़ें:- इज़राइल से मंगवाए उपकरण, 300 मीटर रेंज : ऐसे की गई रेवंत रेड्डी की जासूसी

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
अब भी पूछेंगे युवा क्यों छोड़ते हैं देश... : NEET-PG एग्जाम पोस्टपोन होने पर छलका छात्रा का दर्द, बयां की आपबीती
"दरबारियों ने महिलाओं...":'नारी शक्ति' पर जयराम रमेश की टिप्‍पणी पर भड़कीं स्‍मृति ईरानी
CSIR-UGC-NET की परीक्षा भी हुई स्थगित, NTA ने संसाधनों की कमी का दिया हवाला
Next Article
CSIR-UGC-NET की परीक्षा भी हुई स्थगित, NTA ने संसाधनों की कमी का दिया हवाला
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;