यूनेस्‍को टैग के करीब हैदराबाद : 16वीं सदी की बावड़‍ियों-मकबरों का हो रहा जीर्णोद्धार

आगा खान ट्रस्ट, राज्य के संस्कृति विभाग के साथ मकबरे और मस्जिदों सहित 100 से अधिक स्मारकों का जीर्णोद्धार कर रहा है.

हैदराबाद :

कुली कुतुब शाह मकबरे (Quli Qutb Shah Tombs Garden)में 16वीं और 17वीं शताब्दी से छह ऐतिहासिक बावड़ियों के जीर्णोद्धार के साथ हैदराबाद ने यूनेस्‍को हेरिटेज सिटी टेग हासिल करने की दिशा में महत्‍वपूर्ण कदम उठाया है. तेलंगाना राज्‍य के मंत्री केटी रामा राव ने यूएस काउंसल जनरल जेफिनर लार्सन के साथ जीर्णोद्धार के कार्य का निरीक्षण किया जो कि अमेरिकी राजदूत के सांस्‍कृतिक संरक्षण कोष द्वारा समर्थित परियोजना है. बड़े पैमाने पर पत्थर की चिनाई और पारंपरिक सामग्रियों के साथ बहाल की बावड़‍ियां, 106 एकड़ के क्षेत्र में फैसले टॉम्‍बस गार्डन को बहाल करने की परियोजना का एक हिस्‍सा हैं. विशेषज्ञों ने इसे दुनिया के किसी भी स्‍थान के लिहाज से अद्वितीय बताया है. 

गौरतलब है कि आगा खान ट्रस्ट, राज्य के संस्कृति विभाग के साथ मकबरे और मस्जिदों सहित 100 से अधिक स्मारकों का जीर्णोद्धार कर रहा है. शाही मकबरों के चारों ओर चहारदीवारी के भीतर बागों की सिंचाई करने के लिए इन बावड़ियों का इस्तेमाल किया जाता था. फाउंडेशन के प्रोजेक्ट डायरेक्टर रतीश नंदा (Ratish Nanda)ने  NDTV को बताया, "179 साल के कुतुब शाही शासन में हर दशक का यहां एक इमारत प्रतिनिधित्‍व करती है. हमारे पास 40 गुंबद मकबरे (dome mausoleums)हैं, इनमें से चार दिल्‍ली के हुमायूं के मकबरे और अन्‍य महान मुगल मकबरे की ऊंचाई के हैं. ये बावड़‍ियां अब प्रोजेक्‍ट के अन्य हिस्सों के लिए जल स्रोत का काम भी करेंगी. 

तेलंगाना के विशेष मुख्‍य सचिव अरविंद कुमारने बताया, "यह पर्यटन के विकास के साथ ही भूमि को अतिक्रमण से बचाने मे मददगार होगा. पूर्व में मलबे से ढकी इन बावड़ियों में अब पूरे बगीचे की जरूरतों के लिहाज से पर्याप्त पानी होगा." हैदराबाद ने कुछ वर्ष पहले, इसकी बिरयानी और अन्‍य मशहूर व्‍यंजनों के लिए पाक कला (gastronomy)का यूनेस्‍को का टैग हासिल किया था.  उन्‍होंने बताया, "हैरिटेज सिटी टैग के लिहाज से, कुतुब शाही मकबरा बेहद खास है. 106 एकड़ में फैला यह देश के किसी भी मेट्रो शहर का सबसे बड़ा Heritage precinct (विरासत क्षेत्र)  है." 

* DA में हुई 4 फीसदी की बढ़ोतरी, जानें - किसको कितना मिलेगा फायदा
* दिल्ली आबकारी नीति: गिरफ्तार कारोबारी विजय नायर को CBI कोर्ट में किया गया पेश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com