DA में हुई 4 फीसदी की बढ़ोतरी, जानें - किसको कितना मिलेगा फायदा

DA, यानी महंगाई भत्ते में घोषित की गई यह वृद्धि 1 जुलाई, 2022 से ही लागू होगी, और कर्मियों-पेंशनधारकों को जुलाई से लेकर अब तक का बकाया (Arrears) भी दिया जाएगा.

DA में हुई 4 फीसदी की बढ़ोतरी, जानें - किसको कितना मिलेगा फायदा

DA, यानी महंगाई भत्ते में घोषित की गई यह वृद्धि 1 जुलाई, 2022 से ही लागू होगी, और कर्मियों-पेंशनधारकों को जुलाई से लेकर अब तक का बकाया (Arrears) भी दिया जाएगा...

नई दिल्ली:

DA Hike: 7th Pay Commission के आधार पर वेतन पाने वाले सभी केंद्रीय कर्मियों-अधिकारियों तथा पेंशनभोगियों को केंद्रीय कैबिनेट ने उम्मीद के मुताबिक नवरात्रि का पर्व खत्म होने से पहले ही महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) और महंगाई राहत (Dearness Relief) में 4 प्रतिशत बढ़ोतरी का तोहफा दे दिया है. इसके साथ ही अब देशभर के सभी केंद्रीय वेतनभोगियों को उनकी तनख्वाह में DA के तौर पर चार फीसदी ज़्यादा रकम मिलेगी. नियमानुसार, DA, यानी महंगाई भत्ते में घोषित की गई यह वृद्धि 1 जुलाई, 2022 से ही लागू होगी, और कर्मियों-पेंशनधारकों को जुलाई से लेकर अब तक का बकाया (Arrears) भी दिया जाएगा.

DA में यह बढ़ोतरी 4 फीसदी हुई है, तो आइए देखते हैं, सातवें वेतन आयोग के आधार पर वेतन पाने वाले सभी लोगों को कितना मासिक और वार्षिक लाभ होगा. अब जिन सरकारी कर्मियों की बेसिक सैलरी 18,000 रुपये है, उन्हें DA में हर माह 720 रुपये की बढ़ोतरी हासिल होगी, जिससे उनका वार्षिक लाभ 8,640 रुपये होगा. जिन कर्मियों का मूल वेतन 20,000 रुपये है, उन्हें हर महीने 800 रुपये और हर साल 9,600 रुपये का फायदा होगा. मूल वेतन 25,000 होने पर यह बढ़ोतरी 1,000 रुपये प्रतिमाह और 12,000 रुपये वार्षिक हो जाएगी.

यदि आपकी बेसिक सैलरी 30,000 रुपये है, तो यही लाभ हर माह 1,200 रुपये और सालाना 14,400 रुपये हो जाएगा. मूल वेतन 40,000 रुपये होने की स्थिति में DA का मासिक लाभ 1,600 रुपये और वार्षिक फायदा 19,200 रुपये होगा. इसी तरह, 50,000 मूल वेतन पाने वालों तो 2,000 रुपये प्रतिमाह तथा 24,000 रुपये प्रतिवर्ष का लाभ होगा.

जिनकी बेसिक सैलरी 60,000 रुपये है, उन्हें 4 फीसदी की इस डीए वृद्धि से हर महीने 2,400 रुपये और हर साल 28,800 रुपये का फायदा होगा. 70,000 रुपये बेसिक सैलरी वालों को 2,800 रुपये मासिक और 33,600 रुपये वार्षिक लाभ प्राप्त होगा. जिनका मूल वेतन 90,000 रुपये है, उन्हें हर महीने 3,600 रुपये और हर साल 43,200 रुपये का फायदा मिलेगा, तथा मूल वेतन, यानी बेसिक सैलरी 1,00,000 रुपये पाने वालो को महंगाई भत्ते में 4 फीसदी वृद्धि होने के बाद कुल वेतन में 4,000 रुपये प्रतिमाह तथा 48,000 रुपये प्रतिवर्ष का फायदा हासिल होगा.

इसी प्रकार बेसिक सैलरी 1,50,000 रुपये पाने वालों को हर महीने 6,000 रुपये तथा हर साल 72,000 रुपये अधिक हासिल होंगे, और जिनका मूल वेतन 2,00,000 रुपये है, उन्हें इस बढ़ोतरी के बाद प्रतिमाह 8,000 रुपये तथा प्रतिवर्ष 96,000 रुपये का लाभ मिलेगा.

bmte6li8

गौरतलब है कि केंद्र सरकार हर साल 1 जनवरी और 1 जुलाई को महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में संशोधन करती है, लेकिन इस फैसले की घोषणा आमतौर पर मार्च और सितंबर में की जाती है. 31 दिसंबर, 2019 तक 7th Pay Commission के आधार पर वेतन पाने वाले सभी कर्मियों को 17 फीसदी के हिसाब से महंगाई भत्ता मिल रहा था, और उसके बाद डेढ़ साल तक कोविड के चलते इसमें कतई कोई बढ़ोतरी या संशोधन नहीं किया गया था. बाद में, जुलाई, 2021 में महंगाई भत्ते में 11 फीसदी की बढ़ोतरी कर इसे 28 फीसदी कर दिया गया था, और फिर उसके बाद अक्टूबर, 2021 में इसमें एक बार फिर 3 फीसदी की बढ़ोतरी की गई थी, और उसे भी 1 जुलाई, 2021 से ही लागू किया गया था, सो, सभी केंद्रीय कर्मियों को वेतन तथा पेंशनधारकों को पेंशन पर DA 1 जुलाई, 2021 से ही 31 फीसदी की दर से मिलता आ रहा था. फिर, जनवरी, 2022 में भी महंगाई भत्ते में 3 फीसदी की बढ़ोतरी की गई, जिसकी बदौलत अब तक सभी केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को 34 फीसदी की दर से महंगाई भत्ता दिया जा रहा है, जो अब 38 फीसदी की दर से दिया जाने लगेगा.

--- ये भी पढ़ें ---
* क्या है PF, यानी प्रॉविडेंट फंड - जानें पीएफ से जुड़े सभी सवालों के जवाब...
* ग्रेच्युटी क्या है, कैसे की जाती है कैलकुलेट – सब कुछ जानें
* अगर HRA छूट पाने के लिए मां-बाप को देते हैं किराया, तो हो जाएं सावधान...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

VIDEO: क्या महामारी से पहले के स्तर पर पहुंचेगी GDP...?