विज्ञापन
Story ProgressBack

"5 शताब्दी की प्रतीक्षा के बाद अयोध्या में रामनवमी मनाने का सौभाग्य मिला...": PM

अयोध्या में भगवान श्री रामलला के 'सूर्य तिलक' के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं. आज रामनवमी के दिन दोपहर के समय सूर्य की किरणें रामलला के मस्तक पर पड़ेंगी और दर्पण व लेंस से जुड़े एक विस्तृत तंत्र द्वारा उनका 'सूर्य तिलक' संभव हो सकेगा.

Read Time: 3 mins
अयोध्या धाम में रामनवमी के उपलक्ष्य में 9 अप्रैल से रामनवमी मेला का शुभारंभ हो चुका.
अयोध्या:

Ayodhya Ram Mandir: देशभर में आज रामनवमी का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है. मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़ रही है. अयोध्या मंदिर में भगवान राम के प्राण प्रतिष्ठा के बाद ये पहली रामनवमी है. इस अवसर पर लाखों की संख्या पर लोग अयोध्या पहुंच रहे हैं.  श्रीरामनवमी (Ram Navami) के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक पोस्ट किया और कहा, यह पहली रामनवमी है, जब अयोध्या के भव्य और दिव्य राम मंदिर में हमारे राम लला विराजमान हो चुके हैं. रामनवमी के इस उत्सव में आज अयोध्या एक अप्रतिम आनंद में है. 5 शताब्दियों की प्रतीक्षा के बाद आज हमें ये रामनवमी अयोध्या में इस तरह मनाने का सौभाग्य मिला है. यह देशवासियों की इतने वर्षों की कठिन तपस्या, त्याग और बलिदान का सुफल है.

Advertisement

अयोध्या में 22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में नए मंदिर में भगवान राम की मूर्ति की प्रतिष्ठा के बाद यह पहली रामनवमी होगी. 

Advertisement

एक अन्य पोस्ट में पीएम ने लिखा, प्रभु श्रीराम भारतीय जनमानस के रोम-रोम में रचे-बसे हैं, अंतर्मन में समाहित हैं....व्य राम मंदिर की प्रथम रामनवमी का यह अवसर उन असंख्य राम भक्तों और संत-महात्माओं को स्मरण और नमन करने का भी है, जिन्होंने अपना पूरा जीवन राम मंदिर के निर्माण के लिए समर्पित कर दिया.

Advertisement
Advertisement

एक्स पर एक पोस्ट में पीएम मोदी ने लिखा मुझे पूर्ण विश्वास है कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जीवन और उनके आदर्श विकसित भारत के निर्माण के सशक्त आधार बनेंगे.

Advertisement

लाखों भक्तों के मंदिर में आने की उम्मीद

 अयोध्या धाम में रामनवमी के उपलक्ष्य में 9 अप्रैल से रामनवमी मेला का शुभारंभ हो चुका है, जो रामनवमी के दिन यानी 17 अप्रैल तक जारी रहने वाला है. यहां 25 लाख श्रद्धालुओं की संभावना है. रामनवमी मेला के अवसर पर संपूर्ण मेला क्षेत्र को कुल 7 जोन तथा 39 सेक्टर में विभाजित किया गया है. वहीं, यातायात व्यवस्था को 2 जोन तथा 11 क्लस्टर में विभाजित कर यातायात व्यवस्था सुनिश्चित कराई जा रही है.

रामलला का हुआ दुग्धाभिषेक

24X7 सुरक्षा व्यवस्था

मेला के दौरान संपूर्ण मेला क्षेत्र में श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था के लिए 11 अपर पुलिस अधीक्षक, 26 पुलिस उपाधीक्षक, 150 निरीक्षक, 400 उप निरीक्षक, 25 महिला उप निरीक्षक, 1305 मुख्य आरक्षी/आरक्षी, 270 महिला मुख्य आरक्षी/आरक्षी, 15 कंपनी पीएसी, 2 कंपनी बाढ़ राहत, 1 टीम एसडीआरएफ व 1 टीम एटीएस की अतिरिक्त ड्यूटी लगाई गई है. प्रत्येक जोन में पुलिस व्यवस्था के प्रभारी एक अपर पुलिस अधीक्षक तथा प्रत्येक सेक्टर के प्रभारी अधिकारी एक पुलिस उपाधीक्षक/निरीक्षक बनाए गए हैं. इसके अलावा, मंदिर परिसर व बाह्य संपूर्ण मेला क्षेत्र को 24X7 ड्यूटी लगाकर सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएगी.

रामलला का होगा सूर्यतिलक

'सूर्य तिलक' की तैयारियां पूरी (Surya Tilak Ram Mandir Ayodhya)

अयोध्या में भगवान श्री रामलला के 'सूर्य तिलक' (Surya Tilak) के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं. आज रामनवमी के दिन दोपहर के समय सूर्य की किरणें रामलला के मस्तक पर पड़ेंगी और दर्पण व लेंस से जुड़े एक विस्तृत तंत्र द्वारा उनका 'सूर्य तिलक' संभव हो सकेगा. इस प्रणाली का परीक्षण वैज्ञानिकों ने मंगलवार को किया. इसे ''सूर्य तिलक परियोजना'' का नाम दिया गया है,

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
पुणे पोर्श मामला : ड्राइवर को बदलने की भी की गई कोशिश - पुलिस 
"5 शताब्दी की प्रतीक्षा के बाद अयोध्या में रामनवमी मनाने का सौभाग्य मिला...": PM
Explainer : धरती को प्यासा बनाता सूरज! दक्षिण में सूखे की आहट, खत्म होने की कगार पर सैकड़ों जलाशय
Next Article
Explainer : धरती को प्यासा बनाता सूरज! दक्षिण में सूखे की आहट, खत्म होने की कगार पर सैकड़ों जलाशय
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;