"नरेंद्र ने गुजरात चुनाव में पूरी ताकत लगा दी ताकि भूपेंद्र सारे रिकॉर्ड तोड़ सकें", दिल्ली मुख्यालय में बोले पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, 'ये जनादेश अभिभूत करने वाला है. जहां भारतीय जनता पार्टी प्रत्यक्ष नहीं जीती, वहां भाजपा का वोट शेयर आपके स्नेह का साक्षी है. मैं गुजरात हिमाचल और दिल्ली की जनता का आभार जताता हूं.

पीएम मोदी ने गुजरात में जीत के बाद कार्यकर्ताओं को किया संबोधित

नई दिल्ली:

गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की प्रचंड जीत के बाद पीएम मोदी ने गुरुवार शाम को दिल्ली मुख्यालय से पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने गुजरात में मिली जीत को लेकर कहा कि इस नरेंद्र ने तो चुनाव में अपनी पूरी ताकत लगा दी थी ताकि भूपेंद्र जीत के सारे रिकॉर्ड तोड़ सकें. चुनाव के नतीजों को लेकर पीएम मोदी ने जनता का शुक्रिया अदा करते हुए कहा- 'मैं जनता जनार्दन के सामने नतमस्तक हूं. बीजेपी बड़े से बड़े और कड़े से कड़े फैसले लेने का दम रखती है.'

पीएम मोदी ने कहा कि गुजरात में नरेंद्र-भूपेंद्र ने रिकॉर्ड तोड़ने का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है. भाजपा को मिला जनसमर्थन नए भारत की आकांक्षाओं का प्रतिबिम्ब है. भाजपा को मिला जनसमर्थन भारत के युवाओं की ‘युवा सोच' का प्रकटीकरण है. भाजपा को मिला जनसमर्थन गरीब, शोषित, वंचित, आदिवासियों के सशक्तिकरण के लिए मिला समर्थन है.

गुजरात, हिमाचल और दिल्ली की जनता का आभार

पीएम मोदी ने कहा, 'ये जनादेश अभिभूत करने वाला है. जहां भारतीय जनता पार्टी प्रत्यक्ष नहीं जीती, वहां भाजपा का वोट शेयर आपके स्नेह का साक्षी है. मैं गुजरात हिमाचल और दिल्ली की जनता का आभार जताता हूं. आपका प्यार उपचुनावों में भी दिखा. यूपी के रामपुर में भाजपा जीती है. बिहार के चुनावों में भाजपा का प्रदर्शन आने वाले दिनों का प्रदर्शन कर रहा है. मैं चुनाव आयोग का भी आभार व्यक्त करता हूं.' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा कि BJP भले ही हिमाचल में चुनाव न जीत पाई हो, लेकिन अंतर बहुत कम रहा है. 1 फीसदी का अंतर है. मैं आपसे वादा करता हूं कि भले ही बीजेपी हिमाचल में एक फीसदी अंतर से हार गई हो, लेकिन केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता 100 फीसदी ही रहेगी. हम वहां जनता के मुद्दे उठाते रहेंगे और काम करते रहेंगे.

Featured Video Of The Day

असम में बाल विवाह पर ऐक्शन से हंगामा, क्या कार्रवाई को कानूनी रूप से दी जा सकती है चुनौती ?