मुंबई में मानसून के आगमन में हुई देरी, 48 घंटे में दस्तक देने की संभावना

मुंबई में मानसून आम तौर पर 11 जून तक आता है लेकिन इस बार अब तक नहीं दी दस्तक, अगले दो दिनों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल

मुंबई में मानसून के आगमन में हुई देरी, 48 घंटे में दस्तक देने की संभावना

प्रतीकात्मक तस्वीर

मुंबई / नई दिल्ली :

मुंबई में शनिवार को सुबह भले ही बारिश हुई, लेकिन मौसम विभाग की मानें तो मानसून अभी मुंबई तक नहीं आ पाया है. मानसून अभी अलीबाग तक पहुंचा है और उसके 48 घंटे में मुंबई तक पहुंचने की संभावना है. मुंबई में मानसून आम तौर पर 11 जून तक आता है लेकिन इस बार 24 जून तक भी मानसून नहीं आ पाया है. मुंबई में साल 2019 में भी मानसून 25 जून को आया था.  

मुंबई में मानसून कब तक आएगा और अगले हफ्ते बारिश का क्या अनुमान है, इस बारे में मुंबई के मौसम विभाग की वैज्ञानिक सुषमा नायर ने जानकारी दी.

अगले दो दिनों के दौरान मुंबई और दिल्ली में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं. दक्षिण-पश्चिम मानसून महाराष्ट्र के कुछ और हिस्सों, कर्नाटक के शेष हिस्सों, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के अधिकांश हिस्सों, हरियाणा और जम्मू के कुछ हिस्सों व कश्मीर और लद्दाख में आगे बढ़ गया है. 

मुंबई, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश सहित महाराष्ट्र के अधिकांश हिस्सों, बिहार के कुछ हिस्सों, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू, कश्मीर और लद्दाख, चंडीगढ़ और दिल्ली सहित हरियाणा के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं. अगले दो दिनों के दौरान गुजरात, पूर्वी राजस्थान और पंजाब के कुछ हिस्सों में मानसून आगे बढ़ेगा.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के एक अधिकारी ने शुक्रवार को कहा था कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के इस सप्ताहांत में मध्य प्रदेश में दस्तक देने की संभावना है. राजधानी भोपाल सहित राज्य के 18 जिलों में शुक्रवार को मानसून पूर्व बारिश हुई थी. दो दिनों से छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में रुक-रुक कर बारिश हो रही है, जिससे लोगों को भीषण गर्मी से काफी राहत मिली है.

आईएमडी के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम मानसून के 24 या 25 जून को मध्य प्रदेश में दस्तक देने की संभावना है और यह 26 या 27 जून को राज्य की राजधानी भोपाल पहुंच सकता है. 29 जून तक मानसून के पूरे राज्य में फैलने की संभावना है. पिछले साल मानसून अपने सामान्य समय से एक दिन पहले 16 जून को मध्य प्रदेश पहुंचा था और 21 जून तक राज्य के 80 प्रतिशत हिस्से क्षेत्र पर छा गया था.

केरल में मानसून अपने सामान्य समय से सात दिन की देरी से आठ जून को पहुंचा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(इनपुट भाषा से भी)