राष्ट्रपिता के पद-चिह्नों पर चल रही है मोदी सरकार : दिल्ली में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘जब से हमारी सरकार सत्ता में आई है, हमारा प्रयास न केवल कमजोर वर्ग के लोगों का उत्थान करना है, बल्कि उन्हें सशक्त बनाना भी है. सभी वर्गों के विकास से देश का सुरक्षा परिदृश्य मजबूत होगा.’’

राष्ट्रपिता के पद-चिह्नों पर चल रही है मोदी सरकार : दिल्ली में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी आज भी प्रत्येक भारतवासी के हृदय में बसते हैं.

नई दिल्ली:

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि महात्मा गांधी ने ‘‘सुदृढ़, समृद्ध और स्वच्छ भारत'' की कल्पना की थी और मोदी सरकार राष्ट्रपिता के पद-चिह्नों पर चल रही है और उनके विचारों के अनुरूप योजनाएं क्रियान्वित कर रही है. सिंह ने राष्ट्रीय राजधानी में राजघाट के निकट महात्मा गांधी की 10 फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया. उन्होंने कहा, ‘‘गांधी जी एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे, जिन्होंने एक सुदृढ़, समृद्ध और स्वच्छ भारत की परिकल्पना की थी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली हमारी सरकार राष्ट्रपिता के पद-चिह्नों पर चल रही है.''

राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘जन-धन योजना, आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री गरीब-कल्याण योजना और स्वच्छ भारत जैसी योजनाएं उनके विचारों पर आधारित हैं.'' रक्षा मंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी आज भी प्रत्येक भारतवासी के हृदय में बसते हैं. उन्होंने महात्मा गांधी, बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर और पं. दीनदयाल उपाध्याय जैसी महान शख्सियतों के योगदान का स्‍मरण किया और कहा कि उन्होंने देशभक्ति और प्रतिबद्धता के साथ हाशिए पर पड़े वर्गों के उत्थान के लिए कार्य किया.

सिंह ने कहा, ‘‘ये महापुरुष हमारी सरकार के लिए मार्गदर्शक हैं. प्रधानमंत्री मोदी का ‘सबका साथ, सबका विकास' का दृष्टिकोण उनके (नेताओं) सपनों पर आधारित है. हमारी विचारधारा शांति, सामाजिक सद्भाव, एकता और विकास पर आधारित परिवर्तन लाने की है.'' उन्होंने कहा कि सरकार का ध्यान हमेशा योजनाबद्ध तरीके से प्रगति पर रहा है, जिसके परिणामस्वरूप भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘जब से हमारी सरकार सत्ता में आई है, हमारा प्रयास न केवल कमजोर वर्ग के लोगों का उत्थान करना है, बल्कि उन्हें सशक्त बनाना भी है. सभी वर्गों के विकास से देश का सुरक्षा परिदृश्य मजबूत होगा.''