विज्ञापन
Story ProgressBack

लोकसभा चुनाव : बारामती में ननद बनाम भाभी का मुकाबला, किसकी होगी जीत? 

महाराष्‍ट्र की बारामती लोकसभा सीट के चुनाव परिणाम का हर किसी को बेसब्री से इंतजार है. यहां पर ननद सुप्रिया सुले का मुकाबला अपनी ही भाभी सुनेत्रा पवार के साथ है.

Read Time: 4 mins
लोकसभा चुनाव : बारामती में ननद बनाम भाभी का मुकाबला, किसकी होगी जीत? 
मुंबई:

लोकसभा चुनाव परिणाम (Lok Sabha Elections Results 2024) को लेकर काउंटडाउन शुरू हो चुका है और अब परिणाम आने में कुछ ही घंटे का वक्‍त बचा है. ऐसे में हर किसी की निगाहें देश में एक ऐसी लोकसभा सीट पर है, जहां पर एक ही परिवार के दो लोगों ने एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ा है. महाराष्ट्र की बारामती सीट (Baramati Lok Sabha Seat) पर ननद और भाभी के बीच टक्‍कर है. इस सीट पर शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले और अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार के बीच सीधा मुकाबला है. यहां कौन बाजी मारेगी, इस सवाल को लेकर एग्जिट पोल भी बंटे हुए हैं. किसी ने सुप्रिया का पलड़ा भारी बताया है तो किसी ने सुनेत्रा की जीत बताई है. 

बारामती देश की गिनी-चुनी हाई प्रोफाइल सीटों में से एक हैं. शरद पवार एक लंबे वक्त तक इस सीट से सांसद रहे और फिर 2009 में उनकी बेटी सुप्रिया सुले यहां की सांसद बनी. सुले के लिए इस बार चुनाव चुनौतीपूर्ण रहा, क्योंकि उन्हें चुनौती खुद पवार परिवार के ही एक सदस्य से मिली है. 

सुप्रिया सुले ने भाभी पर नहीं किया सीधा हमला  

बीते 5 सालों में महाराष्ट्र की राजनीति में काफी उठा पटक हुई है. कई नाटकीय घटनाक्रम हुए. शिवसेना और एनसीपी जैसी पार्टियां दो फाड़ हो गईं. अजीत पवार राज्य के सत्ताधारी गठबंधन महायुति के साथ हो लिए. उस ड्रामे का असर अब लोकसभा चुनाव में बारामती सीट पर भी नजर आया. चुनावी सभाओं में सुप्रिया सुले अपनी भाभी सुनेत्रा पर सीधे हमला तो नहीं करती थीं, लेकिन राज्य की जिस महायुती की वे उम्मीदवार हैं, उस पर उन्‍होंने गंभीर आरोप लगाए.

Latest and Breaking News on NDTV

बेटी को जीत दिलाने के लिए प्रचार में जुटे शरद पवार 

सुप्रिया सुले के प्रचार में खुद उनके पिता और पार्टी प्रमुख शरद पवार जुटे हुए थे. शरद पवार के पोते और विधायक रोहित पवार लोगों के बीच जाकर अपनी बुआ के लिए प्रचार कर रहे थे. रोहित पवार का कहना था कि जिस तरह से पिछले साल अजित पवार ने शरद पवार से बगावत की, उसके बाद एक सहानुभूति की लहर पैदा हुई है, जिसका फायदा सुप्रिया सुले को मिलेगा. 

सुनेत्रा की जीत के लिए अजित पवार ने झोंकी ताकत  

दूसरी तरफ सुनेत्रा पवार ने भी अपनी भाभी को टक्कर देने के लिए खूब मशक्कत की है. सुबह आठ बजे से ही सुनेत्रा पवार का दिन शुरू हो जाता था. वे बारामती के गांव-गांव घूमकर छोटी-छोटी बैठकें लेती और गांव वालों की समस्याएं सुनती. एनडीटीवी से बात करते हुए सुनेत्रा पवार ने कबूल किया था कि वे राजनीति में नईं है और इसलिए लोगों के बीच में जाकर उन्हें अपनी पहचान बनाने के लिए मेहनत करनी पड़ रही है. अपनी पत्नी को जितवाने के लिए अजित पवार ने पूरी ताकत झोंक दी है. अजित पवार के करीबियों का मानना है की उनके महायुति में शामिल हो जाने का फायदा सुनेत्रा पवार को मिलेगा. 

इस लोकसभा क्षेत्र में छह विधानसभा की सीटें आती हैं, जिनमें से दो पर बीजेपी, दो पर कांग्रेस और दो पर एनसीपी का कब्जा है. पिछले चुनाव में सुप्रिया सुले ने अपनी प्रतिद्वंद्वी भाजपा की कंचन कूल को 155774 मतों से हराया था.

ये भी पढ़ें :

* सुप्रिया सुले का आरोप- बारामती के EVM स्ट्रांगरूम में CCTV 45 मिनट हो गए बंद, रिटर्निंग ऑफिसर ने दी सफाई
* मामा Vs दादा, क्रिकेटर का डेब्यू; पारिवारिक झगड़ा: तीसरे चरण में मुख्य मुकाबला
* NDTV इलेक्शन कार्निवल: बारामती में पवार बनाम पवार, बहू या बेटी में से किसे चुनेगा शरद पवार का गढ़?

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
मुलाकात हुई क्या बात हुई? BJP सांसद से उनके घर पर जाकर मिलीं सीएम ममता बनर्जी
लोकसभा चुनाव : बारामती में ननद बनाम भाभी का मुकाबला, किसकी होगी जीत? 
बंगाल में नये विधायकों के शपथ ग्रहण को लेकर राजभवन-सरकार में फिर ठनी
Next Article
बंगाल में नये विधायकों के शपथ ग्रहण को लेकर राजभवन-सरकार में फिर ठनी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;