विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jan 30, 2023

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए ‘कुछ और सीटें’ छोड़ेगा वाम

येचुरी ने कहा, ‘‘हम पहली बार (त्रिपुरा में) अन्य ताकतों के साथ एक चुनावी समझौते में आ रहे हैं. 2 फरवरी तक, हमें लगता है कि कुछ सीट व्यवस्था का समायोजन हो जाएगा.’’

Read Time: 4 mins
त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए ‘कुछ और सीटें’ छोड़ेगा वाम
(प्रतीकात्मक तस्वीर)
अगरतला/कोलकाता:

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के एक वरिष्ठ नेता ने रविवार को अगरतला में कहा कि सीटों के बंटवारे संबंधी एक फार्मूले पर यहां काम किया जा रहा है जिसके तहत माकपा के नेतृत्व वाला वाम मोर्चा पहले बनी सहमति की तुलना में अपनी सहयोगी कांग्रेस के लिए 'कुछ और सीटें' छोड़ेगा.

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने भी कोलकाता में संकेत दिया था कि पार्टी को उम्मीद है कि सीटों के बंटवारे पर कांग्रेस के साथ आम सहमति बन जाएगी. 25 जनवरी को, वाम मोर्चे ने दिल्ली में पार्टी के आलाकमान के फैसले के तहत कांग्रेस के लिए 13 सीटें छोड़कर, एक निर्दलीय सहित 47 विधानसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा की थी.

हालांकि, कांग्रेस अपनी संभावित क्षमता के मद्देनजर कम सीटें आवंटित किये जाने को लेकर असंतुष्ट है. शनिवार को 'नाराज' कांग्रेस ने 60 सदस्यीय विधानसभा में से 17 विधानसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी.

माकपा के प्रदेश समिति सदस्य पवित्र कार ने कहा, ‘‘सीट बंटवारे को लेकर हमारी कांग्रेस नेताओं के साथ पहले दौर की बैठक हुई. कांग्रेस नेता अधिक सीटें मांग रहे हैं. यह मामला माकपा समेत वाम दलों के विचाराधीन है.''

उन्होंने संकेत दिया कि कांग्रेस को 'कुछ और सीटें' दी जाएंगी. इसे दोनों पार्टियों का केंद्रीय नेतृत्व अंतिम रूप देगा.'' उन्होंने कहा, ‘‘जो भी निर्णय लिया जाएगा वह आज ही करना होगा क्योंकि कल आगामी चुनावों के लिए नामांकन करने की आखिरी तारीख होगी.''

हालांकि, त्रिपुरा प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष बिरजीत सिन्हा और पार्टी विधायक सुदीप रॉय बर्मन दोनों क्रमशः कैलाशहर और अगरतला से चुनाव लड़ने की तैयार में हैं, लेकिन कई प्रयासों के बावजूद उनसे संपर्क नहीं हो सका. हालांकि, कोलकाता में माकपा नेतृत्व ने संकेत दिया था कि वार्ता में एक या दो दिन और लग सकते हैं.

येचुरी ने कहा, ‘‘हम पहली बार (त्रिपुरा में) अन्य ताकतों के साथ एक चुनावी समझौते में आ रहे हैं. 2 फरवरी तक, हमें लगता है कि कुछ सीट व्यवस्था का समायोजन हो जाएगा.'' येचुरी ने कहा, 'हम त्रिपुरा की सभी 60 सीटों पर चुनाव नहीं लड़ रहे हैं और राज्य में कांग्रेस और अन्य धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक ताकतों के साथ सीटों का समायोजन होगा.''

उन्होंने कहा कि पार्टी ने सभी से अपील की है ‘‘ताकि बीजेपी को सत्ता से हटाया जा सके, ताकि लोकतंत्र, कानून का शासन और लोकतंत्र को संरक्षित रखा जा सके.'' त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार को नामांकन दाखिल करने का आखिरी दिन है और दो फरवरी को नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख है.

उन्होंने कहा, ‘‘स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने का कोई सवाल तब तक नहीं आ सकता जब तक कि लोकतंत्र और लोकतांत्रिक अधिकारों की रक्षा नहीं की जाती है और इसके लिए भारतीय संविधान में विश्वास रखने वाली सभी ताकतों को एकसाथ आने की आवश्यकता है.''

त्रिपुरा में 16 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने कनिष्ठ केंद्रीय मंत्री प्रतिमा भौमिक सहित 54 उम्मीदवारों की घोषणा की है.

यह भी पढ़ें -
-- Adani Group ने Hindenburg के आरोपों का किया खंडन, इसे "भारत पर हमला" बताया
-- ओडिशा के मंत्री की हत्या करने वाला एएसआई था मानसिक रोगी, मनोचिकित्सक ने किया खुलासा

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
अंतरिक्ष से दिखा राम सेतु; कौन नजर आता है अब भी यहां...यूरोप और भारत के नजरिए में क्या है अंतर? 
त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए ‘कुछ और सीटें’ छोड़ेगा वाम
दिल्ली के निलौठी गांव की एक फैक्ट्री में लगी आग, 43 हजार से ज्यादा है इस गांव की आबादी
Next Article
दिल्ली के निलौठी गांव की एक फैक्ट्री में लगी आग, 43 हजार से ज्यादा है इस गांव की आबादी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;