यह ख़बर 05 जुलाई, 2014 को प्रकाशित हुई थी

इराक में फंसी 46 भारतीय नर्सें कोच्चि पहुंचीं, मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने की अगवानी

कोच्चि एयरपोर्ट पर अपने परिजनों से मिलती नर्स

नई दिल्ली:

इराक में सुन्नी आतंकी संगठन आईएसआईएस द्वारा रिहा की गईं 46 भारतीय नर्सो सहित 183 यात्रियों को लेकर एयर इंडिया का विशेष विमान शनिवार सुबह मुंबई पहुंचा। मुंबई में तमाम अन्य भारतीयों को उतारने के बाद विमान कोच्चि पहुंचा जहां मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने नर्सों की अगवानी की। अपने परिजनों से मिलकर नर्सें काफी खुश दिखाई दीं।

इससे पहले, ईंधन भरने और यात्रियों के जलपान के लिए विमान मुंबई उतरा और फिर कोच्चि पहुंचा। एयर इंडिया के अधिकारियों ने बताया कि इसके बाद विमान हैदराबाद और फिर दिल्ली के लिए उड़ान भरेगा।

केरल के मुख्यमंत्री ओमान चांडी का कहना है कि एक वक्त पर उन्होंने सारी उम्मीदें खो दी थीं, क्योंकि तेज हवा चलने की वजह से विमान को इरबिल उतरने की इजाजत नहीं मिली थी।

उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के नर्सों के स्वदेश वापस लाने में किए गए प्रयासों के लिए उनका आभार व्यक्त किया। विमान में केरल की 46 भारतीय नर्स हैं, जिन्हें बंधक बना लिए जाने से पूरा देश चिंतित था।

इधर, इरबिल हवाईअड्डे पर कई नर्सों के प्रदर्शन करने की खबर आ रही है। उनका कहना था कि जब तक उन्हें चार महीने की तनख्वाह नहीं दी जाएगी वे विमान पर सवार नहीं होंगी। भारतीय अधिकारियों ने उन्हें मनाया और तब जाकर वे आने को तैयार हुईं।

अधिकारी ने बताया कि सभी 180 यात्री और चालक दल के तीन सदस्य सुरक्षित हैं। चांडी कोच्ची हवाईअड्डे पर नर्सों का स्वागत करेंगे, जहां विशेष इमिग्रेशन डेस्क तैयार किया गया है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एयर इंडिया का विमान सुबह कुर्दिस्तान प्रांत की राजधानी इरबिल से रवाना हुआ था। गौरतलब है कि सुन्नी आतंकी संगठन आईएसआईएस द्वारा बंधक बनाई गई भारतीय नर्सो को कूटनीतिक प्रयासों के बाद रिहा किया गया है।