कनाडा में भारतीय हाई कमीशन ने पत्र लिखकर की इवेंट से 'काली' का पोस्टर हटाने की मांग

मणिमेकलाई ने कहा, "फिल्म एक शाम टोरंटो शहर की सड़कों पर काली के टहलने के दौरान की घटनाओं के बारे में है. अगर वे फिल्म देखते हैं, तो वे 'अरेस्ट लीना मणिमेकलाई' के बजाय 'लव यू लीना मणिमेकलाई' हैशटैग लगाएंगे."

कनाडा में भारतीय हाई कमीशन ने पत्र लिखकर की इवेंट से 'काली' का पोस्टर हटाने की मांग

नई दिल्ली:

कनाडा में भारतीय हाई कमीशन ने हिंदुओं की भावना को आहत करने वाली देवी के पोस्टर हटाने की मांग की है.  हाई कमीशन ने इवेंट के आयोजकों को पत्र लिखा है. जिसमें लिखा गया है, "हमें कनाडा में रहने वाले हिंदू समुदाय के नेताओं से शिकायत मिली है, कि आगा खान म्यूजियम में हो रहे इवेंट में हिंदू देवी के ऐसे पोस्टर लगाए गए हैं जो हिंदुओं की भावना को आहत करते हैं."

भारतीय हाई कमीशन ने कहा कि हमारे कंसुलेट जेनरल ने कार्यक्रम के आयोजकों को इसकी सूचना दे दी है. कई हिंदू सगठनों ने भी कनाडा के संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के लिए कहा है. हम कनाडा के अधिकारियों से अनुरोध करते हैं कि इवेंट से ऐसी सामग्रियों को तत्काल हटाया जाए.

बता दें कि डॉक्यूमेंट्री 'काली' के पोस्टर पर देवी को धूम्रपान करते और एलजीबीटीक्यू का झंडा थामे दिखाया गया है. इस वजह से इस पर विवाद बढ़ता जा रहा है. 'काली' के पोस्टर ने सोशल मीडिया पर तूफान खड़ा कर दिया है और यह विवाद 'अरेस्ट लीना मणिमेकलाई' हैशटैग के साथ ट्रेंड कर रहा है. सोशल मीडिया पर इसका विरोध करने वालों का आरोप है कि फिल्म निर्माता धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचा रही हैं. इस बीच 'गौ महासभा' नामक संगठन के एक सदस्य ने कहा है कि उन्होंने दिल्ली पुलिस में इसकी शिकायत की है.

इधर आलोचनाओं का शिकार हो रहीं फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलाई ने कहा है कि वह जब तब जिंदा हैं, तब तक बेखौफ अपनी आवाज बुलंद करना जारी रखेंगी. जुबानी हमलों के जवाब में, टोरंटो निवासी फिल्म निर्देशिका ने यह कहते हुए पलटवार किया है कि वह इसके लिए अपनी जान देने को भी तैयार हैं.

मणिमेकलाई ने इस विवाद को लेकर एक लेख के जवाब में एक ट्विटर पोस्ट में तमिल भाषा में लिखा, 'मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं है. जब तक मैं जीवित हूं, मैं बेखौफ आवाज बनकर जीना चाहती हूं. अगर इसकी कीमत मेरी जिंदगी है, तो इसे भी दिया जा सकता है.'

मदुरै में जन्मी फिल्म निर्माता ने शनिवार को माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर 'काली' का पोस्टर साझा किया था और कहा था कि यह फिल्म टोरंटो में आगा खान संग्रहालय में 'रिदम्स ऑफ कनाडा' खंड का हिस्सा है.

मणिमेकलाई ने लोगों से पोस्टर के संदर्भ को समझने के लिए फिल्म देखने का भी आग्रह किया. उन्होंने दूसरे लेख के जवाब में कहा, "फिल्म एक शाम टोरंटो शहर की सड़कों पर काली के टहलने के दौरान की घटनाओं के बारे में है. अगर वे फिल्म देखते हैं, तो वे 'अरेस्ट लीना मणिमेकलाई' के बजाय 'लव यू लीना मणिमेकलाई' हैशटैग लगाएंगे."

'गौ महासभा' के सदस्य अजय गौतम ने कथित तौर पर देवी को अपमानजनक और आपत्तिजनक तरीके से पेश करने के लिए फिल्म निर्माता के खिलाफ अपनी पुलिस शिकायत की एक प्रति पत्रकारों को भेजी. उनका कहना है कि इससे शिकायतकर्ता सहित लाखों भक्तों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं साइबर सेल के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि उन्हें अभी तक शिकायत नहीं मिली है. कई ट्विटर यूजर्स ने मणिमेकलाई की कड़ी आलोचना की है.