विज्ञापन
Story ProgressBack

In-depth : छठे चरण में 59% मतदान, 2019 के मुकाबले वोटर टर्नआउट कम, समझिए वोटिंग ट्रेंड का गुणा-गणित

Lok Sabha Elections Voting: पश्चिम बंगाल के जंगल महल में सबसे अधिक 78.19 फीसदी वोटिंग हुई, छठे चरण के मतदान में पिछले चुनाव के इसी चरण की तुलना में 5.14 प्रतिशत की गिरावट आई

Read Time: 3 mins
In-depth : छठे चरण में 59% मतदान, 2019 के मुकाबले वोटर टर्नआउट कम, समझिए वोटिंग ट्रेंड का गुणा-गणित
जम्मू कश्मीर के अनंतनाग-राजौरी संसदीय क्षेत्र में मतदान केन्द्र के बाहर कतार में खड़े मतदाता.
नई दिल्ली:

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव के छठे चरण का मतदान शनिवार को हुआ. इसमें छह राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों की 58 लोकसभा सीटों पर कुल 59.06 प्रतिशत मतदान हुआ. सन 2019 के पिछले लोकसभा चुनाव के छठे चरण में कुल 64.2 प्रतिशत वोटिंग हुई थी. यानी पिछले चुनाव के मुकाबले इस बार के चुनाव के छठे चरण में 5.14 प्रतिशत कम मतदान हुआ. 

छठे चरण में शनिवार को दिल्ली की सभी सात सीटों के अलावा, उत्तर प्रदेश की 14 सीटों, हरियाणा की सभी 10 सीटों, बिहार और पश्चिम बंगाल की आठ-आठ सीटों, ओडिशा की छह सीटों, झारखंड की चार सीटों और जम्मू-कश्मीर की एक सीट पर मतदान हुआ.

चुनाव आयोग ने छठे चरण में शामिल लोकसभा सीटों पर शनिवार को शाम 7:45 बजे तक के मतदान के आंकड़े जारी किए हैं. इसके अनुसार झारखंड में 62.74 प्रतिशत मतदान हुआ. पिछले चुनाव में झारखंड में इस चरण में 64.6 फीसदी वोटिंग हुई थी.  

शनिवार को उत्तर प्रदेश में 54.03 प्रतिशत वोटिंग हुई. यूपी में 2019 में इस चरण में 54.6 फीसदी वोटिंग हुई थी. यानी कि प्रदेश में इस बार मतदान में मामूली गिरावट आई.

बिहार में छठे चरण की सीटों पर 53.30 प्रतिशत मतदान हुआ. राज्य में 2019 के इस चरण में 58.6 प्रतिशत मतदान हुआ था. इस बार पिछले चुनाव के मुकाबले 5.3 प्रतिशत कम मतदान हुआ. 

जम्मू-कश्मीर में छठे चरण में 52.28 प्रतिशत मतदान हुआ. यहां पिछले चुनाव में छठे चरण में मात्र 9 प्रतिशत वोटिंग हुई थी. यानी कि पिछले चुनाव के छठे चरण की तुलना में यहां मतदान में 43.28 फीसदी की वृद्धि हुई.

हरियाणा में छठे चरण में 58.37 प्रतिशत वोटिंग हुई. पिछले चुनाव में यहां इस चरण में 70.3 फीसदी मतदान हुआ था. इसका मतलब यह हुआ कि इस बार के छठे चरण में पिछले चुनाव के इस चरण के मुकाबले मतदान में 11.93 प्रतिशत की गिरावट आई.   

ओडिशा में इस बार छठे चरण में 60.07 प्रतिशत वोट पड़े. पिछले चुनाव में यहां इस चरण में 71.6 प्रतिशत मतदान हुआ था. यानी इस बार छठे चरण में करीब 10 प्रतिशत कम मतदान हुआ.

दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर शनिवार को 54.48 प्रतिशत मतदान हुआ. पिछले चुनाव में दिल्ली में 60.6 फीसदी वोट पड़े थे. इस बार राष्ट्रीय राजधानी में मतदान में 6.12 प्रतिशत की कमी आई. 

अनंतनाग-राजौरी सीट पर 52.28 प्रतिशत मतदान

छठे चरण में जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग-राजौरी सीट पर मतदान प्रतिशत कई दशकों में सबसे अधिक रहा है. यहां 52.28 प्रतिशत मतदान हुआ. पश्चिम बंगाल के जंगल महल क्षेत्र में सबसे ज्यादा 78.19 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया.

इसके अलावा शनिवार को ओडिशा में 42 विधानसभा सीटों और हरियाणा में करनाल विधानसभा उपचुनाव के लिए भी मतदान हुआ.

छठे चरण में 11.13 करोड़ से अधिक मतदाता थे, जिनमें 5.84 करोड़ पुरुष, 5.29 करोड़ महिला और 5120 तृतीय लिंग के वोटर थे. आयोग ने 1.14 लाख मतदान केंद्रों पर लगभग 11.4 लाख अधिकारियों को तैनात किया था.

इस चरण के के साथ अब 28 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 486 सीटों पर मतदान पूरा हो चुका है. सातवें चरण और अंतिम चरण का मतदान एक जून को होगा. वोटों की गिनती चार जून को होगी और इसके साथ ही नतीजे घोषित होंगे.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
"जो मिल गया वही मुकद्दर है" : छगन भुजबल का राज्‍यसभा नहीं भेजे जाने का दर्द फूटा
In-depth : छठे चरण में 59% मतदान, 2019 के मुकाबले वोटर टर्नआउट कम, समझिए वोटिंग ट्रेंड का गुणा-गणित
बंबई हाईकोर्ट  का रुख कर छात्राओं ने कक्षा में हिजाब, बुर्का पर पाबंदी के निर्देश को चुनौती दी
Next Article
बंबई हाईकोर्ट का रुख कर छात्राओं ने कक्षा में हिजाब, बुर्का पर पाबंदी के निर्देश को चुनौती दी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;