"अग्निवीरों को हरियाणा सरकार में नौकरी की गारंटी", मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का ऐलान

सेना ने जुलाई से अग्निपथ योजना के तहत नौकरी के आकांक्षी युवाओं के लिए अनिवार्य ऑनलाइन पंजीकरण को लेकर एक अधिसूचना जारी की है. 

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

'अग्निपथ' योजना (Agnipath Scheme) पर देशभर में चल रहे विरोध-प्रदर्शन के बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Haryana CM Manohar Lal Khattar) ने ऐलान किया है कि चार साल की सेवा कर लौटने वाले अग्निवीरों को हरियाणा सरकार में गारंटी के साथ नौकरी दी जाएगी. अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के दिन मुख्यमंत्री खट्टर ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. 

उन्होंने ट्वीट किया, "मैं घोषणा करता हूँ कि 'अग्निपथ योजना' के तहत 4 वर्ष देश की सेवा करने के बाद वापिस आने वाले अग्निवीरों को गारंटी के साथ हरियाणा सरकार में नौकरी दी जाएगी."

बता दें कि बिहार, उत्तर प्रदेश के अलावा हरियाणा में भी युवा अग्निपथ स्कीम को विरोध कर रहे हैं. राज्य में सबसे ज्यादा रोहतक इलाके में इसका असर देखने को मिला है. सरकार की नई योजना के खिलाफ सोमवार को बुलाए गए ‘भारत बंद' के दौरान राज्य के कई हिस्सों में सड़क और रेल यातायात आंशिक रूप से प्रभावित रहा, जबकि विरोध के चलते सुरक्षा में बढ़ोतरी और पाबंदियां लगाने के मद्देनजर कई राज्यों में प्रदर्शन कम होता नजर आया.

अग्निपथ विवाद के मद्देनजर तीनों सेना प्रमुखों की आज PM मोदी से मुलाकात : 10 अहम बातें

सेना ने जुलाई से अग्निपथ योजना के तहत नौकरी के आकांक्षी युवाओं के लिए अनिवार्य ऑनलाइन पंजीकरण को लेकर एक अधिसूचना जारी की है. 

संयुक्त किसान मोर्चा ने अग्निपथ को ‘राष्ट्र विरोधी' बताया, 24 जून को देशव्यापी प्रदर्शन करेगा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसबीच, अग्निपथ योजना के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में एक याचिका दायर की गई, जिसमें आरोप लगाया गया है कि सरकार ने सशस्त्र बलों के लिए वर्षों पुरानी चयन प्रक्रिया को रद्द कर दिया है, जो संवैधानिक प्रावधानों के विपरीत है और इसके लिये संसद की मंजूरी भी नहीं ली गई है.