गडकरी ने झारखंड में 2024 तक दो लाख करोड़ रुपये की सड़क परियोजनाओं का वादा किया

बिजली उत्पादन में महत्वपूर्ण योगदान देने के बावजूद झारखंड का ज्यादा विकास नहीं हो पाने पर खेद व्यक्त करते हुए गडकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में इसका विकास सुनिश्चित करने का लक्ष्य है.

गडकरी ने झारखंड में 2024 तक दो लाख करोड़ रुपये की सड़क परियोजनाओं का वादा किया

(फाइल फोटो)

रांची:

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बृहस्पतिवार को झारखंड में बुनियादी ढांचे को मजबूत करने का वादा किया और कहा कि 2024 तक राज्य में दो लाख करोड़ रुपये की लागत से राजमार्ग का नेटवर्क तैयार किया जाएगा. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री गडकरी ने कहा कि झारखंड बुनियादी ढांचा के मामले में विकसित राज्यों की कतार में खड़ा होगा और यहां भारतमाला एवं आर्थिक गलियारे के तहत सड़क मार्ग सहित राजमार्ग का एक नेटवर्क खड़ा किया जाएगा.

गडकरी ने राज्य की राजधानी रांची में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘जो परियोजनाएं आप आज यहां देख रहे हैं वह सिर्फ ‘ट्रेलर' है. मेरा वादा है कि मैं झारखंड में दो लाख करोड़ रुपये के सड़क बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को पूरा दूंगा.'' केंद्रीय मंत्री ने कहा कि झारखंड के पास कोयला और लोहा समेत प्रचुर संसाधन है और राज्य में बेहतर बुनियादी ढांचा होने से देश के विकास को गति मिलेगी.

गडकरी ने कहा कि सड़क नेटवर्क से यहां उद्योग को बढ़ावा मिलेगा और अत्यधिक संख्या में रोजगार सृजित होंगे. उन्होंने कहा कि लक्ष्य साजो सामान के लागत को कम करना है, जो भारत में चीन और अमेरिका जैसे देशों की तुलना में 16 प्रतिशत अधिक है, जहां सोजो सामान की लागत क्रमश: लगभग आठ और 12 प्रतिशत है.

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा, ‘‘2024 तक भारत की साजो सामान की लागत को नौ प्रतिशत तक कम करने का लक्ष्य है.'' उन्होंने झारखंड सरकार से रोपवे के लिए प्रस्ताव भेजने का आग्रह किया. उन्होंने खेद व्यक्त किया कि राज्य से ऐसा कोई प्रस्ताव प्राप्त नहीं हुआ, जबकि विभिन्न राज्यों से रोपवे के निर्माण के लिए 260 प्रस्ताव आए हैं.

हरित ईंधन की आवश्यकता पर जोर देते हुए मंत्री ने झारखंड के किसानों से पराली, चावल के भूसे आदि से इथेनॉल के उत्पादन के लिए आगे आने का भी आग्रह किया.

गडकरी ने कहा कि उन्हें रांची और जमशेदपुर में देश के पहले डबल डेकर पुल के अलावा 5,000 करोड़ रुपये की 114 किलोमीटर लंबी रिंग रोड की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है. इनके लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) पर काम शुरू हो गया है.

गडकरी ने 10 किलोमीटर लंबे ‘डबल-डेकर' कॉरिडोर को राष्ट्र को समर्पित करने के तुरंत बाद गोपाल मैदान में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “सड़कों के विकास से उद्योग आएंगे, खनन क्षेत्र का अंतत: विकास होगा और युवाओं के लिए रोजगार के अवसर सृजित होंगे.”

बिजली उत्पादन में महत्वपूर्ण योगदान देने के बावजूद झारखंड का ज्यादा विकास नहीं हो पाने पर खेद व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में इसका विकास सुनिश्चित करने का लक्ष्य है.

उन्होंने कहा, ‘‘झारखंड की सड़कें अमेरिका की सड़कों के स्तर की होंगी, क्योंकि मेरा मानना है कि सड़क किसी भी देश के विकास का पैमाना होती है.'' वह 13,296 करोड़ रुपये की कुल 31 परियोजनाओं को शुरू करने के लिए तैयार हैं. इनमें से 21 परियोजनाएं राज्य की राजधानी रांची से संबंधित हैं, जिस पर 9,453 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे.

पहले केन्द्रीय मंत्री ने जमशेदपुर में आयोजित कार्यक्रम में कुल 3378 करोड़ रुपये की दस परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलन्यास किया और फिर उन्होंने रांची में कुल 21 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया.

रांची के पुराने विधानसभा परिसर मैदान में आयोजित कार्यक्रम में नितिन गडकरी के साथ कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश, सांसद संजय सेठ के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी सहित भाजपा और आजसू (ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन) के कई विधायक उपस्थित थे.

यह भी पढ़ें -

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

-- खाद्यान्न आत्मनिर्भरता के लिए देश लाल बहादुर शास्त्री का ऋणी : नरेंद्र सिंह तोमर
-- Exclusive: अमृतपाल सिंह पर खुफिया एजेंसी की रिपोर्ट में अहम खुलासे



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
अन्य खबरें