विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 27, 2023

बीआरएस महाराष्ट्र में लड़ेगी जिला परिषद चुनाव, पार्टी अध्यक्ष केसीआर ने की घोषणा

केसीआर ने रविवार को आयोजित रैली में कहा कि देश की स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद अबतक सत्तर वर्ष में चौवन वर्ष कांग्रेस और सोलह वर्ष बीजेपी ने शासन किया लेकिन किसानों की हालत अबतक खराब है.

Read Time: 4 mins
बीआरएस महाराष्ट्र में लड़ेगी जिला परिषद चुनाव, पार्टी अध्यक्ष केसीआर ने की घोषणा
केसीआर ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि वे छह हजार रुपए किसानों को भीख देती है. (फाइल फोटो)
मुंबई:

तेलंगाना के मुख्यमंत्री और बीआरएस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव ने रविवार को घोषणा की कि बीआरएस पार्टी महाराष्ट्र में जिला परिषद चुनाव लड़ेगी और पूरे राज्य में गांव स्तर पर पार्टी का विस्तार किया जाएगा. जिला परिषद चुनाव में गुलाबी झंडा खड़ा हो जाएगा. महाराष्ट्र के प्रत्येक गांव में सदस्यता अभियान शीघ्र शुरू किया जाएगा. रविवार की रैली में केसीआर ने किसानों और दलितों के हक की लड़ाई जारी रखने का एलान किया. 

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने बीजेपी नेता देवेन्द्र फडणवीस के प्रश्न के जवाब में तंज कसते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार सभी किसानों को तेलंगाना की तर्ज पर दस हजार रुपए प्रति एकड़ प्रति वर्ष राशि दे, उच्च गुणवत्ता पूर्ण फ्री बिजली किसानों को चौबीस घंटे मुहैया कराए, परियोजना से खेतों में फ्री सिंचाई का जल मुहैया कराए, किसानों को पांच लाख रुपए का बीमा प्रदान करें और महाराष्ट्र सरकार यहां के किसानों की उपजाई सारी फसल खरीदे तो वे महाराष्ट नहीं आने पर विचार करेंगे. अन्यथा वे लगातार महाराष्ट्र का दौरा जारी रखेंगे और किसानों के हक की लड़ाई लड़ेंगे. बीआरएस महाराष्ट्र में पंचायत चुनाव लड़ेगी.

केसीआर ने रविवार को आयोजित रैली में कहा कि देश की स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद अबतक सत्तर वर्ष में चौवन वर्ष कांग्रेस और सोलह वर्ष बीजेपी ने शासन किया लेकिन किसानों की हालत अबतक खराब है. इसलिए हमने नारा दिया है अबकी बार किसान सरकार. सत्ता की चाबी किसानों के हाथों में है. जबतक हम जाति- धर्म में बंटेंगे, ये सरकारें हमें हल्के में लेगी, इसलिए किसानों को एकजुट होकर अपनी सरकार बनानी होगी.

उन्होंने कहा कि अबतक किसी ने किसानों के साथ न्याय नहीं किया, इसलिए किसान सरकार बनाकर इसका समाधान करना होगा. जितना काम तेलंगाना में हो पाया है, वह सबकुछ महाराष्ट्र में संभव है. तेलंगाना सुधर सकता है तो इतना शक्तिशाली राज्य महाराष्ट्र क्यों नहीं? सरकार में घबराहट पैदा करना है तो आगामी पंचायत चुनाव में अपनी ताकत दिखाएं.

केसीआर ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि वे छह हजार रुपए किसानों को भीख देती है, वे दस हजार रुपए क्यों नहीं देती है ? किसानों को किसी से भीख की जरूरत ही नहीं है, इसलिए हमने नारा दिया है - अबकी बार किसान सरकार. मैं एक मंत्र देता हूं - किसान एकता ही इसका मंत्र है. जबतक हम जाति धर्म के नाम पर लड़ेंगे, किसान आत्महत्या करते रहेंगे.

केसीआर ने कहा कि पार्टियां बदलती है लेकिन किसानों की हालत में सुधार नहीं हो रहा है. तेलंगाना सरकार दलित बंधु योजना के तहत दलित युवा को दस लाख की राशि देती है, जिसे वापस नहीं करना पड़ता है. महाराष्ट्र सरकार को दलित बंधु योजना लागू करना चाहिए. जबतक दलितों और किसानों के लिए योजनाएं लागू नहीं की जाती है तब तक महाराष्ट्र आता रहूंगा और इनके हक की लड़ाई लड़ूंगा. 

रविवार की जनसभा में बीआरएस किसान सेल अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी, सांसद जे संतोष कुमार, विधायक जीवन रेड्डी, महासचिव हिमांशु तिवारी, विधायक शकील अहमद, बलका सुमन, एनसीपी के पूर्व र्विधायक शंकरअन्ना ढोंढगे उपस्थित थे. भारी संख्या में पूर्व विधायक और स्थानीय नेताओं ने मुख्यमंत्री से पटका पहनकर बीआरएस की सदस्यता ग्रहण की.

यह भी पढ़ें -

-- राहुल गांधी को सांसद पद के अयोग्य ठहराना लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत नहीं : सुखबीर बादल
-- राजस्थान पुलिस ने जयपुर, कोटा रेंज और चूरू जिले से 2,051 अपराधियों को किया गिरफ्तार

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
भारत में 80 प्रतिशत सीमांत किसान प्रतिकूल जलवायु से प्रभावित : रिपोर्ट
बीआरएस महाराष्ट्र में लड़ेगी जिला परिषद चुनाव, पार्टी अध्यक्ष केसीआर ने की घोषणा
कृषि में AI के इस्तेमाल का मुद्दा संसद सत्र में उठाया जाएगा: शरद पवार
Next Article
कृषि में AI के इस्तेमाल का मुद्दा संसद सत्र में उठाया जाएगा: शरद पवार
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;