मोहाली में पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय में विस्फोट, कार सवार संदिग्धों ने दूर से किया हमला

यह धमाका शाम करीब 7.45 बजे मोहाली के सेक्टर 77 स्थित कार्यालय में हुआ. विस्फोट के कारण इमारत की एक मंजिल की खिड़की के शीशे टूट गए. पुलिस ने आशंका जताई है कि ये विस्फोट कार सवार संदिग्धों ने की है.

नई दिल्ली:

पंजाब के मोहाली में पुलिस के खुफिया इकाई के मुख्यालय परिसर में सोमवार रात रॉकेट चालित ग्रेनेड (rocket-propelled grenade or RPG) से हमला किया गया, जिससे इमारत की एक मंजिल की खिड़की के शीशे टूट गए. हालांकि, इससे हुए विस्फोट में कोई घायल नहीं हुआ, लेकिन राजनीतिक दलों ने इसे 'चिंताजनक' और 'चौंकाने वाला' करार दिया.

पुलिस ने इसे आरपीजी जैसा हमला बताया और विस्फोट को मामूली बताया. रविवार को पंजाब पुलिस ने तरनतारन जिले के एक गांव से दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया था और उनके पास से 1.5 किलो आरडीएक्स बरामद किया था. सूत्रों के मुताबिक पंजाब पुलिस ने आतंकी घटना से इनकार किया है. सूत्रों के अनुसार ऑफिस में रखे विस्फोटक में ब्लास्ट हुआ है. ब्लास्ट कोई आतंकी घटना नहीं है. यह धमाका मोहाली विजिलेंस बिल्डिंग में हुआ है.

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने डीजीपी से मामले की पूरी जानकारी ली है. मुख्यमंत्री लगातार अफसरों के संपर्क में हैं. गौरतलब है कि 24 अप्रैल को चंडीगढ़ स्थित बुड़ैल जेल के पास विस्फोटक सामग्री बरामद होने के कुछ दिन बाद धमाके की यह घटना हुई है.

यह धमाका शाम करीब 7.45 बजे मोहाली के सेक्टर 77 स्थित कार्यालय में हुआ. विस्फोट के कारण इमारत की एक मंजिल की खिड़की के शीशे टूट गए. पुलिस ने आशंका जताई है कि ये विस्फोट कार सवार संदिग्धों ने की है.

मोहाली पुलिस ने एक बयान में कहा, ''शाम 7.45 बजे सेक्टर 77, एसएएस नगर में पंजाब पुलिस खुफिया मुख्यालय परिसर में एक मामूली विस्फोट की सूचना मिली. किसी नुकसान की सूचना नहीं है. वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर हैं और मामले की जांच की जा रही है. फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया है.''

गौरतलब है कि पंजाब से सटे हरियाणा के करनाल में चार दिन पहले पुलिस ने एक बड़े हमले की साजिश को नाकाम कर दिया था. पुलिस ने खालिस्तानी आतंकवाद व आईएसआई से जुड़े पंजाब के रहने वाले चार संदिग्ध आतंकियों को हथियारों व RDX के साथ गिरफ्तार किया था. करनाल के बसताड़ा टोल से चारों की गिरफ्तारी हुई थी. चारों इनोवा कार में सवार होकर दिल्ली की तरफ जा रहे थे. गिरफ्तार संदिग्ध आतंकवादी पंजाब के रहने वाले गुरप्रीत, भूपेंद्र अमनदीप व परविंदर सिंह बताए जा रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान के रहने वाले हरविंदर सिंह के चारों साथी हैं. करनाल पुलिस मामले की जांच कर रही है. गिरफ्तार संदिग्ध आतंकियों को लेकर करनाल एसपी ने बताया था कि आतंकी हरविंदर सिंह रिंडा ने आदेश इनको दिए थे. बताया जा रहा है कि चारों संदिग्ध आतंकियों को तेलंगाना IED भेजना था.  इनको लोकेशन पाकिस्तान से भेजी गई थी. इससे पहले ये लोग दो जगहों पर IED सप्लाई कर चुके थे. इनके खिलाफ मधुबन पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज हुई है. एसीपी इंद्री मामले की जांच कर रहे हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उनके पास से देसी पिस्टल, 31 कारतूस और 3 लोहे के कंटेनर बरामद किए गए थे. साथ ही एक लाख 30 हजार रुपये कैश भी बरामद किया गया था. तीन युवक फिरोजपुर के रहने वाले हैं. एक युवक लुधियाना का रहने वाला है. बताया जा रहा है कि मुख्य आरोपी की जेल में दूसरे युवक से मुलाकात हुई थी.