IGIMS पटना में बवाल, बीजेपी नेता ने अस्पताल के अंदर लहराई बंदूक, FIR दर्ज

इस मामले में आईजीआईएमएस के डॉक्टर द्वारा FIR दर्ज की गई है. मामला शास्त्री नगर थाने में दर्ज किया गया है और पुलिस ने बीजेपी नेता सुमित समेत कुछ अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है.

IGIMS पटना में बवाल, बीजेपी नेता ने अस्पताल के अंदर लहराई बंदूक, FIR दर्ज

बीजेपी नेता समेत कुछ अन्यों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है.

नई दिल्ली:

बिहार के पटना के IGIMS अस्पताल से एक मरीज के परिजन द्वारा रिवॉल्वर लहराने का मामला सामने आया है. मरीज के परिजनों में से एक द्वारा रिवॉल्वर लहराने के कारण अस्पताल स्टाफ के बीच डर का माहौल उत्पन्न हो गया. मरीज के परिजनों का कहना है कि अस्पताल के स्टाफ द्वारा सही तरह से इलाज नहीं किया जा रहा है. इस पर अस्पताल का कहना है कि मरीज की स्थिति बेहद गंभीर है और वह वेंटीलेटर पर हैं लेकिन उनके इलाज के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है.

इस मामले में आईजीआईएमएस के डॉक्टर द्वारा FIR दर्ज की गई है. मामला शास्त्री नगर थाने में दर्ज किया गया है और पुलिस ने बीजेपी नेता सुमित समेत कुछ अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है. मामले पर बात करते हुए अस्पताल के स्टाफ ने बताया, "रेड जोन 17 नंबर में कुसुम लता जी वेंटिलेटर पर थीं. इससे पहले उनका इलाज आरा में चल रहा था और वहां भी वह वेंटिलेटर पर ही थीं. उन्होंने कहा, मरीज बेहद क्रिटिकल स्थिति में हैं और इसी अवस्था में दो दिन पहले उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था". 

अस्पताल के स्टाफ ने कहा, "रविवार और सोमवार दोनों दिन इलाज चल रहा था और इसी बीच उनके परिजन जो एफआईआर में नामित हैं. वो अंदर आए और आकर हमारे डॉक्टरों और स्टाफ के साथ झगड़ा करने लगें और कहने लगें कि मरीज का सही से इलाज नहीं किया जा रहा है, जब्कि हमने उन्हें समझाने की कोशिश की कि मरीज बेहद क्रिटिकल स्थिति में है और इलाज चल रहा है. वो हमारे डॉक्टर और स्टाफ के साथ अपशब्दों का प्रयोग करने लगें. तभी उनके एक अन्य परिजन अंदर आ गए और उन्होंने बंदूक लहराना शुरू कर दिया. वह खुद को एक पार्टी का सचिव या उपाध्यक्ष बता रहे थे. अस्पताल में हल्ला होने के बाद सुरक्षाकर्मी आए और बहुत मुश्किल से उन्हें बाहर निकाला गया लेकिन बाहर जाकर उन्होंने फिर से हंगामा शुरू कर दिया और दरवाजा पीटना शुरू कर दिया". 

स्टाफ ने कहा, "हमारे चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर अमरेश कृष्णा ने भी उन्हें समझाने की बहुत कोशिश की थी लेकिन वो उनके सामने भी बंदूल लहराने लगे. इसके बाद मामले पर काबू पाने के लिए प्रशासन और पुलिस भी पहुंची ताकि अप्रीय घटना होने से बचा जा सके. एफआईआर में शिकायतकर्ता ने कहा है कि उन्हें बार-बार धमकी दी गई थी और बंदूक लहरा रहे थे. इसके बाद पुलिस प्रशासन और अस्पताल प्रशासन ने उनसे निपटने का काम किया और क्रिटिकल स्थिति में भर्ती किए गए मरीज का हम इलाज कर रहे हैं".

IGIMS की घटना पर RJD नेता मनोज झां ने नीतीश पर साधा निशाना

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मनोज झां ने IGIMS में हुई इस घटना के बारे में बात करते हुए कहा, "नीतीश जी IGIMS की घटना हम सबने देखी है उसके बाद तो ये स्पष्ट हो गया है यहां सरकार नाम की चीज कहां है. एक अधिकारी आपकी बात नहीं सुनता है, विधानसभा में आपके आश्वासन के बाद भी कोई तब्दीली नहीं होती है. सरेआम हथियार लहराए जा रहे हैं. आप बिहार को कहां ले जा रहे हैं, गवर्नेंस का ये मॉडल बिहार को नहीं चाहिए. जो स्वास्थ्य व्यवस्था और अस्पतालों की चाक चौबंद तेजस्वी जी ने अपने कार्यकाल में की थी, उसका आपने इतनी जल्दी पतन करना शुरू कर दिया. अगर इस पर तुरंत कार्रवाई नहीं होती है तो बिहार अपने तरीके से उत्तर देगा क्योंकि अपने नए सहयोगी भाजपा के साथ जाने के बाद आपने सरकार नाम की चीज और उसकी अवधारणा को नष्ट कर दिया है.