विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 04, 2011

हज़ारे पक्ष ने जलाई लोकपाल विधेयक की प्रतियां

Read Time: 3 mins
Mumbai: सरकार द्वारा गुरुवार को लोकसभा में लोकपाल विधेयक पेश करने के बाद गांधीवादी अन्ना हज़ारे और उनके साथी कार्यकर्ताओं ने विधेयक को गरीब विरोधी करार देते हुए उसकी प्रतियां जला दीं। हज़ारे ने कहा कि वह 16 अगस्त से अनशन करेंगे। हज़ारे और उनके समर्थकों ने लोकसभा में विधेयक पेश होने के बाद दोपहर को महाराष्ट्र के रालेगण सिद्धी में विधेयक की प्रतियां जलायीं। उधर, गाजियाबाद में हज़ारे के साथी कार्यकर्ता अरविंद केजरीवाल, प्रशांत भूषण और किरण बेदी ने भी सरकार के विधेयक पर विरोध जताया। वे दिल्ली के विभिन्न स्थानों पर भी इस विधेयक की प्रतियां जलाएंगे। हज़ारे ने रालेगण सिद्धी में कहा कि देश से भ्रष्टाचार को उखाड़ फेंकने का यही एक मौका है और पूरे देश में इस विधेयक का विरोध होना चाहिये ताकि इसके बदले मजबूत विधेयक आ सके। उन्होंने कहा, यह एक खराब और कमजोर विधेयक है। हमें मजबूत और नए विधेयक की जरूरत है। जब सरकार ने कहा कि वह मजबूत कानून बनायेंगे तो मैंने अप्रैल में अपना अनशन समाप्त कर दिया था। उन्होंने मुझे धोखा दिया। हज़ारे ने कहा, लेकिन 16 अगस्त से शुरू होने वाले आंदोलन के बाद मैं कुछ आश्वासनों पर अपना अनशन वापस नहीं लूंगा। हम मजबूत विधेयक चाहते हैं। गांधीवादी कार्यकर्ता ने दावा किया कि अगर अप्रैल में तीन और दिन तक उनका अनशन जारी रहता को सरकार गिर जाती। सरकार को अनशन या विरोध प्रदर्शन से डर नहीं लगता, बल्कि उसे जनता आवाज की डर से लगता है। बहरहाल, उन्होंने कहा कि उनका विरोध सरकार बदलने के लिये नहीं, बल्कि व्यवस्था बदलने के लिए है।  उधर, गाजियाबाद में केजरीवाल ने कहा कि यह विधेयक गरीब विरोधी और दलित विरोधी है। इस विधेयक से गरीब आम आदमी को भ्रष्टाचार से निपटने में मदद नहीं मिलेगी। केजरीवाल ने आरोप लगाया कि कमज़ोर लोकपाल विधेयक लाकर सरकार देशवासियों को चुनौती दे रही है। उन्होंने कहा कि उन्हें अपेक्षा थी कि सरकार मजबूत विधेयक लायेगी लेकिन हमारे साथ धोखा हुआ। विधेयक पर स्थायी समिति में चर्चा होने की बात को खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि समिति प्रावधानों को बदल नहीं सकती, सिर्फ उस पर अपने सुझाव दे सकती है। भूषण और बेदी ने कहा कि वे भ्रष्टाचार के मामलों की जांच के लिये स्वतंत्र एजेंसी की मांग कर रहे हैं। हज़ारे पक्ष द्वारा आज जंतर मंतर, शकरपुर, रिठाला, शास्त्री नगर, दादरी और ग्रेटर नोएडा में भी सरकारी विधेयक की प्रतियां जलाई गईं।

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बुलेट ट्रेन, एशिया-यूरोप कोरिडोर और मेलोनी से क्या डील? जानें इटली से क्या-क्या लेकर लौटे मोदी
हज़ारे पक्ष ने जलाई लोकपाल विधेयक की प्रतियां
"इसमें हमारा क्या कसूर है...", ग्रेस मार्क्स मिलने वालों की दोबारा से NEET परीक्षा कराने पर बोले छात्र
Next Article
"इसमें हमारा क्या कसूर है...", ग्रेस मार्क्स मिलने वालों की दोबारा से NEET परीक्षा कराने पर बोले छात्र
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;