विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 21, 2011

पीएम ही क्यों न आ जाएं, पीछे नहीं हटूंगा: अन्ना

Read Time: 4 mins
New Delhi: भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे अन्ना हजारे के अनशन का आज छठा दिन है। अन्ना ने अनशन के छठे दिन कहा कि अहिंसा के बूते क्रांति लाकर रहेंगे। उन्होंने कहा कि इस देश से भ्रष्टाचार खत्म होकर रहेगा। अन्ना ने कहा कि युवाओं से उन्हें बहुत उम्मीद है और लोगों से अपील की कि वे अपने-अपने क्षेत्र के सांसदों के घर के बाहर धरना दें और जन लोकपाल बिल पास कराने के लिए दबाव बनाएं। उन्होंने कहा कि देश की जनता मालिक है और नेता, मंत्री उनके सेवक हैं। अब तक मालिक सो रहा था, इसलिए सेवकों को यह गुमान हो गया कि असली मालिक वही हैं, लेकिन अब जनता जाग उठी है। अन्ना ने कहा कि उनकी मुहिम ने बातचीत का रास्ता बंद नहीं किया, लेकिन चाहे प्रधानमंत्री ही क्यों नहीं आ जाएं, जब तक जनलोकपाल पारित नहीं हो जाता, तब तक वह अनशन से हटेंगे नहीं। हजारे ने कहा, रामलीला मैदान में हर साल रावण का दहन किया जाता है और हम सब भी भ्रष्टाचार रूपी रावण का दहन करने यहां आए हैं। हजारे ने अपने समर्थन में आए युवाओं का धन्यवाद करते हुए कहा कि देश की जनता के साथ-साथ खासतौर पर युवा शक्ति का आंदोलन में शामिल होना बहुत अहमियत रखता है। इससे पहले, सुबह करीब 10 बजे भी हजारे मंच पर आए और उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ समर्थन देने के लिए धन्यवाद दिया। हजारे ने अपनी संक्षिप्त बयान में कहा, मैं इस आंदोलन से जुड़ने और यहां आने के लिए आप सभी को धन्यवाद देता हूं। सुबह में हजारे और उनके नजदीकी सहयोगियों अरविंद केजरीवाल, किरण बेदी, शांतिभूषण, मनीष सिसोदिया ने एक बैठक की। सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटेकर भी इस बैठक में उपस्थित थीं। फिलहाल इस अनशन का कोई खास असर सरकार पर नहीं दिख रहा। सरकार और टीम अन्ना के बीच गतिरोध बरकरार है। शनिवार को दिन भर दोनों ओर से बयानबाजी चलती रही। टीम अन्ना ने साफ कर दिया कि जब तक जनलोकपाल बिल सदन में पेश नहीं किया जाएगा, बात नहीं बनेगी। वहीं सरकार ने कहा है कि संवैधानिक प्रक्रिया के तहत ही कोई बिल पास किया जाएगा। शनिवार को प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार एक सशक्त बिल लाने के लिए प्रतिबद्ध है। अन्ना के अनशन के छठे दिन सुबह से ही हजारों लोगों का जमावड़ा रामलीला मैदान में लगना शुरू हो गया है। यहां पहुंचने वालों में सबसे ज्यादा तादाद युवाओं की है। यहां युवा रंग-बिरंगी पोशाकों में पहुंचे हैं और इन्होंने अपने हाथों में जनलोकपाल बिल से जुड़े बैनर और पोस्टर भी लिया हुआ है। रामलीला मैदान में अन्ना हजारे के समर्थकों की तादाद बढ़ती ही जा रही है। लोग अपने काम से छुट्टी लेकर अन्ना के अनशन में शामिल  होने के लिए आए हुए हैं। रामलीला मैदान में पूरी रात जश्न का माहौल बना रहा। लोग छोटी-छोटी टोलियों में बैठकर गाने बजाने में जुटे रहे। अन्ना के अनशन में शामिल होने आए लोगों के लिए मेडिकल सुविधा के पूरे इंतजाम किए गए हैं। अभी तक करीब 100 से ज्यादा लोग बीमार हो चुके हैं, जिनका इलाज यहां किया जा रहा है। वहीं 40 लोगों को एलएनजेपी अस्पताल भेजा गया है।

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Explainer : 'हमारे बारह' को सिनेमाघरों तक पहुंचने का इंतजार, जानिए फिल्‍म को लेकर क्‍या है विवाद
पीएम ही क्यों न आ जाएं, पीछे नहीं हटूंगा: अन्ना
बिहार में अपराधियों के हौसले बुलंद, हथियार के बल पर एक्सिस बैंक से लूटे 17 लाख रुपये
Next Article
बिहार में अपराधियों के हौसले बुलंद, हथियार के बल पर एक्सिस बैंक से लूटे 17 लाख रुपये
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;