"₹13.5 करोड़ का फ्रॉड..." : US से लौटी महिला ने बैंक मैनेजर पर लगाया धोखाधड़ी का आरोप

श्वेता शर्मा नाम की महिला का कहना है कि उन्होंने अपने यूएस अकाउंट से ICICI बैंक के अकाउंट में 13.5 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए थे. उन्होंने बैंक के ब्रांच मैनेजर पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है.

नई दिल्ली:

अमेरिका से लौटी एक भारतीय महिला ने देश सबसे बड़े बैंकों में शामिल ICICI बैंक के ब्रांच मैनेजर पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है. महिला के मुताबिक, बैंक मैनेजर ने उनके अकाउंट से करीब 13.5 करोड़ रुपये का फ्रॉड किया. बैंक ने धोखाधड़ी की बात स्वीकार की है. 

BBC की रिपोर्ट के मुताबिक, श्वेता शर्मा नाम की महिला का कहना है कि उन्होंने अपने यूएस अकाउंट से ICICI बैंक के अकाउंट में 13.5 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए थे. उन्हें उम्मीद थी कि इस पैसे को फिक्स्ड डिपॉजिट में तब्दील किया जाएगा. उन्हें उम्मीद है कि आने वाले साल में ये इंवेस्टमेंट बढ़कर 16 करोड़ रुपये से ज्यादा हो जाएगा.

दिल्‍ली : वजीराबाद में ATM की कैश वैन लूट की घटना CCTV में कैद, भागते दिखे बदमाश

2016 में भारत हुई थीं शिफ्ट 
हालांकि,  श्वेता शर्मा 2016 में अपने पति के साथ भारत शिफ्ट हुईं. उनका कहना है कि उनकी मुलाकात एक दोस्त के जरिए आरोपी बैंक मैनेजर से हुई थी. उनका आरोप है कि बैंक के मैनेजर ने उनके अकाउंट से पैसे निकालने के लिए फर्जी अकाउंट खोले. उनके फर्जी साइन किए. यही नहीं, बैंक मैनेजर ने उनके नाम पर डेबिट कार्ड और चेक बुक जारी करवाए.

दोस्त के जरिए बैंक मैनेजर से हुई थी मुलाकात
श्वेता शर्मा ने आरोप लगाया कि बैंक मैनेजर ने उन्हें अपनी सेविंग्स को फिक्स्ड डिपॉजिट में इंवेस्ट करने का सुझाव दिया था. इसमें 5.5% से 6% की ब्याज दर की पेशकश की गई, क्योंकि अमेरिका में बैंक डिपॉजिट पर ब्याज दर मामूली है.

बैंक मैनेजर ने बनाया फर्जी अकाउंट
उन्होंने कहा, "बैंक मैनेजर ने मुझे फर्जी बयान दिए. मेरे नाम पर एक फर्जी ईमेल आईडी बनाई. बैंक रिकॉर्ड में मेरे मोबाइल नंबर में हेरफेर किया, ताकि मुझे पैसे निकालने की कोई जानकारी न मिले."

बैंक में जमा कराए थे जिंदगी भर की कमाई
उन्होंने कहा, "सितंबर 2019 से दिसंबर 2023 तक चार साल के दौरान हमने अपनी जिंदगी की सारी जमा-पूंजी के तौर पर 13.5 करोड़ रुपये बैंक में डिपॉजिट किए. हमें उम्मीद थी कि ब्याज के साथ यह रकम बढ़कर 16 करोड़ से अधिक हो गई होगी."

VIDEO: बैंक कैशियर पर गोलियां दाग रहे थे बदमाश, महिला कांस्टेबल ने बहादुरी से दबोचा

पहले बैंक मैनेजर भेजता था रसीद
उन्होंने कहा कि उन्हें कभी किसी गड़बड़ी का संदेह नहीं हुआ, क्योंकि ब्रांच मैनेजर मुझे बैंक की स्टेशनरी पर सभी जमा पैसे की रसीदें देते थे. अपने ICICI वाले ईमेल आईडी से बैंक स्टेटमेंट ईमेल पर भेजते थे. कभी-कभी फोल्डर में भी इस तरह के कागजात लेकर आते थे. 

श्वेता शर्मा ने कहा, "मुझे जनवरी की शुरुआत में पता चला कि बेहतर रिटर्न की पेशकश के बाद मेरा सारा पैसा निकाल लिया गया."

बैंक ने मानी धोखाधड़ी की बात
इस बीच ICICI बैंक के एक प्रवक्ता ने बीबीसी के साथ बातचीत में धोखाधड़ी की बात स्वीकार की है. उन्होंने कहा कि ICICI एक प्रतिष्ठित बैंक है, जिसमें लाखों ग्राहकों के खरबों रुपये जमा हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले में जो भी शामिल हैं, उन्हें सज़ा दी जाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हेलमेट पहन बैंक में घुसा लुटेरा... कैशियर को हंसिया दिखाकर लूटे साढ़े 8 लाख रुपये, जांच में जुटी पुलिस की 5 टीमें