तमिलनाडु: पोलाची यौन उत्पीड़न केस में AIADMK युवा नेता को CBI ने दबोचा, पार्टी ने निकाला 

यह मामला फरवरी 2019 में तब सामने आया था, जब 19 वर्षीय एक युवती ने शिकायत दर्ज कराई थी कि पुरुषों के एक समूह ने पोलाची के पास एक कार में उसे कथित तौर पर घसीट कर उसके साथ यौन उत्पीड़न किया था और इस घटना का एक वीडियो शूट कर उसे ब्लैकमेल कर रहे थे.

तमिलनाडु: पोलाची यौन उत्पीड़न केस में AIADMK युवा नेता को CBI ने दबोचा, पार्टी ने निकाला 

सभी आरोपियों को कोर्ट ने 14 दिनों की रिमांड पर भेज दिया है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • दो साल पुराना है पोलाची यौन उत्पीड़न केस, कई महिलाओं के यौन शोषण के आरोप
  • सीबीआई ने AIADMK के यूथ विंग के नेता को किया गिरफ्तार
  • 50 से ज्यादा महिलाओं के साथ यौन शोषण कर चुका है यह गैंग
चेन्नई:

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने 2019 के पोलाची यौन उत्पीड़न केस ( 2019 Pollachi sexual assault case)  में तमिलनाडु (Tamilnadu) की सत्ताधारी AIADMK के यूथ विंग के एक नेता समेत तीन को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद AIADMK ने युवा नेता के. अरुणांदम को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है. सभी आरोपियों को कोर्ट ने 14 दिनों की रिमांड पर भेज दिया है. 

इसके साथ ही दो साल पुराने इस केस में कुल गिरफ्तार लोगों की संख्या बढ़कर अब आठ हो गई है. मामले में पांच अन्य लोगों- सबरीराजन उर्फ ​​रिस्वंत, के थिरुनावुक्कारसौ, एम सतीश, टी वसंत कुमार और आर मणि को 2019 में ही गिरफ्तार कर लिया गया था.

कोयला घोटाला मामले में बीजेपी नेताओं के 'विरोध' के बाद सीबीआई का 'यू-टर्न'

यह मामला फरवरी 2019 में तब सामने आया था, जब 19 वर्षीय एक युवती ने शिकायत दर्ज कराई थी कि पुरुषों के एक समूह ने पोलाची के पास एक कार में उसे कथित तौर पर घसीट कर उसके साथ यौन उत्पीड़न किया था और इस घटना का एक वीडियो शूट कर उसे ब्लैकमेल कर रहे थे.


सीबीआई ने कथित रक्षा घोटाले में यूएस की कंपनी और पूर्व-भारतीय वैज्ञानिक पर लगाए गंभीर आरोप

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बाद में पुलिस जांच में यह खुलासा हुआ था कि कोयम्बटूर शहर के पोलाची में महिलाओं के साथ ऐसे ही वारदात को अंजाम कर 50 से अधिक महिलाओं को ब्लैकमेल करने वाला एक गिरोह सक्रिय है. ये लोग सोशल मीडिया पर पहले महिलाओं से दोस्ती करते हैं, फिर झांसा देकर उसे मिलने के बाहने बुलाते हैं और वारदात को अंजाम देते हैं. कुछ पीड़ित महिलाओं ने रेप के भी आरोप लगाए हैं.