करीब हर युद्धपोत पर की जाएगी महिला अफसर की तैनाती: नेवी चीफ एडमिरल आर हरिकुमार

नेवी चीफ एडमिरल आर हरिकुमार ने अपनी सालाना प्रेस कॉन्फेंस में आज कहा कि देश को नेवी पर भरोसा है और समुद्री सुरक्षा के लिए हम हमेशा तैयार हैं. 4 दिसंबर को नेवी डे मनाए जाने पर एडमिरल हरिकुमार ने कहा, "4 दिसंबर को नेवी डे मनाया जाएगा, 50 साल पहले इसी दिन कराची पर नेवी ने हमला किया था."

करीब हर युद्धपोत पर की जाएगी महिला अफसर की तैनाती: नेवी चीफ एडमिरल आर हरिकुमार

नेवी चीफ एडमिरल आर हरिकुमार ने की की अपनी सालाना प्रेस कॉन्फेंस.

नई दिल्ली:

नेवी  चीफ एडमिरल आर हरिकुमार ने अपनी सालाना प्रेस कॉन्फेंस में आज कहा कि देश को नेवी पर भरोसा है और समुद्री सुरक्षा के लिए हम हमेशा तैयार हैं. एडमिरल हरिकुमार ने नेवी में ​​महिलाओं की भागीदारी की बात करते हुए कहा कि नेवी में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है. करीब हर युद्धपोत पर महिला अफसर तैनात करने की तैयारी की जा रही है. 4 दिसंबर को नेवी डे मनाए जाने पर एडमिरल हरिकुमार ने कहा, "4 दिसंबर को नेवी डे मनाया जाएगा, 50 साल पहले इसी दिन कराची पर नेवी ने हमला किया था." 

पनडुब्बी आईएनएस वेला सेना में शामिल; नौसेना प्रमुख ने इसे 'शक्तिशाली मंच' बताया

एकोविड के दौरान नेवी की भूमिका पर बात करते हुए उन्होंने कहा, "कोविड के दौरान नेवी अस्पताल ने लोगों की मदद की. हमारे 10 समुद्री जहाजों ने मित्र देशों को कोविड के दौरान दवाइयां, वैक्सिन और मानवीय सहायता पहुंचाई. कोविड के दौरान भी हम किसी भी विपरीत स्थिति से निपटने के लिए तैयार थे."

देखें Video : नेवी में शामिल हुई स्कॉर्पियन क्लास की नई पनडुब्बी INS Vela, हुआ भव्य स्वागत

इसके अलावा चीन की चुनौती को लेकर उन्होंने कहा कि हिन्द महासागर हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है. हम सक्षम है और हमने किसी भी देश को देखकर तैयारी नहीं की है, बल्कि समुद्री हालात को देखकर तैयारी की है. हमने ऐसा सिस्टम बनाया है कि जिससे जरूरत के मुताबिक- तैयारी की जाती है. इनपुट मिलने पर तीनों सेना मिलकर रणनीति बनाते हैं. हम पश्चिमी बॉर्डर पर चुनौती से निपटने के लिए भी तैयार हैं. पश्चिम बॉर्डर में जब प्रॉब्लम था तो हमारे शिप तैनात थे. अगर कुछ होता तो, हमारी इसपर नजर थी जिसकी हमारी जिम्मेदारी है.

ओमिक्रॉन को लेकर हिदायत देते हुए उन्होंने कहा, "दूसरे वेव में हमने ठीक से काम किया. हमारी तैयारी तीसरी वेव से निपटने की भी है. ऑक्सिजन, वेंटिलेटर, दवाएं, डॉक्टर की ट्रनिंग सब तैयार है. एक प्रोटोकॉल बना है जिसको सब फॉलो करते हैं. इसमे अभी बदलाव नहीं हुआ है. जब कोई छुट्टी से आता है तो पहले उसका टेस्ट करते हैं, आइसोलेशन में रखते हैं, फिर शिप में तैनात करते हैं.

मिसाइल डिस्ट्रॉयर आईएनएस विशाखापट्टनम इंडियन नेवी में शामिल


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com