बंगाल चुनाव: अभिषेक बनर्जी बोले, 'वोट खरीदने के लिए धन बांट रही BJP, उनसे रुपये ले लें पर वोट TMC को दें'

अभिषेक बनर्जी ने एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए जोर दिया कि लोगों को मोलभाव करना चाहिए और 500 रुपये की पेशकश किए जाने पर मतदाताओं को 5,000 रुपये मांगने चाहिए.

बंगाल चुनाव: अभिषेक बनर्जी बोले, 'वोट खरीदने के लिए धन बांट रही BJP, उनसे रुपये ले लें पर वोट TMC को दें'

अभिषेक बनर्जी ने आरोप लगाया है कि BJP लोगों के वोट खरीदने के लिए रुपये बांट रही है

कुमारग्राम/तूफानगंज:

West bengal Assembly Elections 2021: तृणमूल कांग्रेस पार्टी से सांसद अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee)ने आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) लोगों के वोट खरीदने के लिए रुपये बांट रही है. इसके साथ ही उन्होंने लोगों से कहा कि वे भाजपा की ओर से दिए जाने वाले रुपये लेने के बाद तृणमूल के पक्ष में मतदान करें.बनर्जी ने पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार जिले के कुमारग्राम में एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए जोर दिया कि लोगों को मोलभाव करना चाहिए और 500 रुपये की पेशकश किए जाने पर मतदाताओं को 5,000 रुपये मांगने चाहिए.

चुनाव प्रचार के दौरान मास्क का इस्तेमाल अनिवार्य बनाने के लिये याचिका, केंद्र और EC से मांगा जवाब

उन्होंने कहा, ‘‘कमल (भाजपा का चुनाव चिह्न) से रुपये ले लें और दो फूलों (तृणमूल का चुनाव चिह्न) को वोट दें. अगर वे आपको धोखा दे सकते हैं, तो आप ऐसा क्यों नहीं करेंगे?''उन्होंने कूच बिहार के तूफानगंज में एक अन्य रैली को संबोधित करते हुए कहा कि लोगों को यह तय करना होगा कि वे बाहर के नेताओं को चाहते हैं या अपनी ‘‘बेटी ममता बनर्जी को.''


मुस्लिम मतदाताओं से अपील को लेकर चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी को भेजा नोटिस

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बीजेपी के ‘अच्छे दिन' के वादे पर निशाना साधते हुए तृणमूल सांसद ने कहा कि भाजपा लोगों की उम्मीदों को पूरा करने में नाकाम रही है.उन्होंने कहा कि केंद्र में भाजपा के शासन में आवश्यक वस्तुओं, पेट्रोल और रसोई गैस की कीमतें आसमान को छू रही हैं, जिससे लोग परेशान हैं.उन्होंने कोविड​​-19 की स्थिति से निपटने के संबंध में केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि ममता बनर्जी सरकार को केंद्र से कोई खास मदद नहीं मिली और राज्य सरकार को अन्य प्रदेशों से लोगों को वापस लाने और उनकी सहायता में बड़े पैमाने पर व्यवस्था करनी पड़ी.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)