Weather Updates: बारिश से दिल्ली-NCR में सुहाना हुआ मौसम, 60 Km/h की रफ्तार से चल सकती हैं तेज हवाएं

Weather Forecast Today: दिल्ली में चक्रवाती तूफान ‘ताउते’ और पश्चिमी विक्षोभ के कारण बीते 24 घंटों में रिकॉर्ड 119.3 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई, जिसने मई में बारिश के पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए.

Weather Updates: बारिश से दिल्ली-NCR में सुहाना हुआ मौसम, 60 Km/h की रफ्तार से चल सकती हैं तेज हवाएं

Weather Forecast Update: आईएमडी ने कहा- दिल्ली-एनसीआर में बारिश की संभावना (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • दिल्ली-एनसीआर में बारिश का अलर्ट
  • ताउते ने बिगाड़ा मौसम का गणित
  • राजधानी में तेज हवाएं चलने के आसार
नई दिल्ली:

चक्रवाती तूफान 'ताउते' और पश्चिमी विक्षोभ के कारण राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में शुक्रवार सुबह बूंदा बांदी हुई. बारिश के कारण राजधानी के तापमान में गिरावट देखने को मिली है. मौसम विभाग ने दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में बारिश के साथ आंधी-तूफान और बिजली की आशंका जताई है. इस दौरान 60 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी. इसके अलावा, दिल्ली के आसपास के इलाकों में बारिश होने की संभावना है. 

मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली और एनसीआर के अधिकांश हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ 30 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी. एनसीआर में बहादुरगढ़, गुरुग्राम, मानेसर, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, लोनी देहात, भिवानी, भिवानी, झज्जर, लोहारू, नारनौल, महेंद्रगढ़, कोसली, चरखी दादरी, फारुखनगर, बावल, रेवाड़ी, नूंह, सोहाना, होडल, औरंगाबाद, पलवल (हरियाणा) सहारनपुर, गंगोह, देवबंद, मुजफ्फरनगर, शामली, बरौत, बागपत, , नजीबाबाद, बिजनौर, चांदपुर, हस्तिनापुर में बारिश हो सकती है.

इसके अलावा, खतौली, दौराला, मेरठ, मोदीनगर, अमरोहा, गढ़मुक्तेश्वर, सियाना, हापुड़, पिलाखुआ, सहसवां, नरौरा, अनूपशहर, जहांगीराबाद, बुलंदशहर, बरसाना (यूपी) में बारिश का अनुमान है. राजस्थान में कोटपुतली, भिवाड़ी, अलवर, तिजारा में बारिश की संभावना है. 
 

दिल्ली में बारिश ने सभी रिकॉर्ड तोड़े
दिल्ली में चक्रवाती तूफान ‘ताउते' और पश्चिमी विक्षोभ के कारण बृहस्पतिवार को सुबह साढ़े आठ बजे तक बीते 24 घंटों में रिकॉर्ड 119.3 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई, जिसने मई में बारिश के पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि 1976 में 24 मई को 60 मिमी. बारिश दर्ज की गई थी और इस बार उससे दोगुनी बारिश दर्ज की गईं. 

READ ALSO: '11 घंटों तक लाइफ जैकेट के भरोसे तैरता रहा'- 'ताउते' के बीच तूफानी समंदर से बच निकलने वालों की आपबीती

बंगाल की खाड़ी पर बनने वाला कम दबाव का क्षेत्र चक्रवात में बदल सकता है
मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि 22 मई को बंगाल की खाड़ी के पूर्वी मध्य हिस्से पर एक कम दबाव का क्षेत्र बनेगा जो चक्रवाती तूफान में बदल सकता है और 26 मई को ओडिशा-पश्चिम बंगाल के तटों से टकरा सकता है. इसके बाद अम्फान जैसे एक और तूफान की आशंका गहरा गई है. क्षेत्रीय मौसम निदेशक जीके दास ने बताया कि 25 मई से बंगाल के कई इलाकों में हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हो सकती है और कुछ इलाकों में भारी बारिश की संभावना है.


वर्षा की तीव्रता खासकर गंगा की पट्टी पर आहिस्ता-आहिस्ता बढ़ सकती है. विभाग ने समंदर के अशांत रहने की चेतावनी दी है. पश्चिम बंगाल के मछुआरों को 23 मई से कुछ दिनों के लिए समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है और जो समंदर में चले गए हैं, उनसे लौटने की गुजारिश की गई है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: दिल्ली में भारी बारिश से धंसी सड़क में गिरते ट्रक का वीडियो वायरल