"हमने कभी नहीं माना कि भारत और चीन युद्ध की कगार पर हैं" : अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन

भारत और चीन के बीच पिछले साल से चली आ रही सैन्य तनातनी पर अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने कहा, "अमेरिका ने कभी इस बात पर विश्वास नहीं किया कि भारत और चीन जंग की कगार पर हैं." 

अमेरिका के रक्षा मंत्री ने भारत-चीन विवाद पर कही ये बात (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारत-चीन मसले (India China Face Off) पर अमेरिका के रक्षा मंत्री ने शनिवार को बयान दिया. भारत और चीन के बीच पिछले साल से चली आ रही सैन्य तनातनी पर अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने कहा, "अमेरिका ने कभी इस बात पर विश्वास नहीं किया कि भारत और चीन जंग की कगार पर हैं." 

ऑस्टिन ने नई दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान यह बात कही. दरअसल, उनसे पूछा गया था कि क्या पिछले साल अमेरिका को कभी ऐसा लगा था कि भारत और चीन के बीच युद्ध घटित हो सकता है? इसके जवाब में उन्होंने कहा, "हमने कभी नहीं माना कि भारत और चीन युद्ध की कगार पर हैं."

अमेरिकी रक्षा मंत्री ऑस्टिन तीन देशों की यात्रा के कार्यक्रम के तहत जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा के बाद भारत आए हैं. इस यात्रा को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की क्षेत्र में अपने निकट सहयोगियों एवं साझेदारों के साथ संबंधों को लेकर मजबूत प्रतिबद्धता दर्शाने की कोशिश के तहत देखा जा रहा है. 

पिछले करीब 10 महीने से पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं. हालांकि, बातचीत के बाद कुछ इलाकों से दोनों सेनाएं पीछे हट गई हैं. बता दें कि 15 जून को गलवान घाटी में सैनिकों को हटाने को लेकर दोनों देशों के बीच खूनी झड़प हुई थी. इसमे 20 भारतीय जवान शहीद हुए और कथित तौर पर 45 चीनी सैनिक मारे गए थे.

READ ALSO: चीन के साथ भारत के संबंधों को लेकर सरकार ने लोकसभा में कही यह बात...

ऑस्टिन ने शुक्रवार को दिल्ली पहुंचने के कुछ घंटे बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से वार्ता की. शनिवार को उन्होंने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उनके अमेरिकी समकक्ष लॉयड ऑस्टिन ने विस्तृत वार्ता की, जिसमें द्विपक्षीय रणनीतिक सबंधों को और विस्तार देने, हिंद-प्रशांत क्षेत्र में बदलती स्थिति और आतंकवाद की चुनौती जैसे विषयों पर मुख्य रूप से चर्चा की गई. 


(भाषा के इनपुट के साथ)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: भारत-चीन के रिश्तों में कम होगी तल्खी!