"शहरों के बाद गांव भी अब भगवान के हाथों में": कोरोना के बेतहाशा मामलों पर बोले राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress leader Rahul Gandhi) ने ग्रामीण इलाकों में भी कोरोना के मामलों में इजाफे की रिपोर्ट का उल्लेख करते हुए यह टिप्पणी की

कोरोना महामारी से निपटने के तौरतरीकों को लेकर केंद्र की आलोचना करते रहे हैं राहुल गांधी

नई दिल्ली:

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के ग्रामीण इलाकों में पैर पसारने को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress leader Rahul Gandhi) ने केंद्र सरकार पर जोरदार हमला बोला है. राहुल गांधी ने कहा कि न केवल शहर, बल्कि गांव भी अब भगवान की दया पर छोड़ दिए गए हैं. ट्विटर पर पोस्ट करते हुए कांग्रेस नेता ने भारत के ग्रामीण इलाकों में कोरोना (COVID-19) के बढ़ते कहर का जिक्र किया है. उन्होंने लिखा, शहरों के बाद गांव भी "परमात्मा निर्भर" हो गए हैं.  राहुल गांधी कोरोना महामारी से निपटने के तौरतरीकों को लेकर केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की आलोचना करते रहे हैं.


इससे पहले 7 मई को राहुल गांधी ने कोरोना के संकट को लेकर पीएम मोदी को पत्र लिखा था. इसमें  उन्होंने केंद्र सरकार से वायरस के सभी नए म्यूटेशन के खिलाफ वैक्सीन की प्रभावशीलता का आकलन करने और जल्द से जल्द पूरे देशवासियों का टीकाकरण करने का सुझाव दिया था. राहुल ने कोरोना पर काबू पाने के लिए चार सुझाव पेश किए थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राहुल गांधी ने कहा था, जीनोम सीक्वेसिंग के जरिये वायरस औऱ इसके म्यूटेशन की और महामारी के पैटर्न की पूरे देश में वैज्ञानिक तरीके से निगरानी की जाए. वायरस के सभी तरह के म्यूटेशन के अलावा वैक्सीन की प्रभावशीलता का समय-समय पर आकलन किया जाए. पूरे देश की आबादी का जल्द से वैक्सीनेशन किया जाए. कोरोना वायरस को लेकर पारदर्शिता बरती जाए और पूरी दुनिया को उसके निष्कर्षों की जानकारी दी जाए.