राज ठाकरे को उद्धव का जवाब, हमने हिंदुत्व नहीं छोड़ा, हमारा रंग और मन भी भगवा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्दव ठाकरे ने मुंबई के बांद्रा के बीकेसी में आयोजित वचनपूर्ति समारोह को संबोधित किया

राज ठाकरे को उद्धव का जवाब, हमने हिंदुत्व नहीं छोड़ा, हमारा रंग और मन भी भगवा

उद्धव ठाकरे ने कहा है कि हमने हिंदुत्व छोड़ा नहीं है, हमारा रंग भगवा है और मन में भी भगवा है.

खास बातें

  • राज ठाकरे ने बाल ठाकरे की जयंती पर मनसे की एक रैली को संबोधित किया
  • चाचा बाल ठाकरे की राजनीतिक विरासत को आगे ले जाना का संकेत दिया
  • उद्धव पर निशाना- मैं सरकार बनाने के लिए मेरी पार्टी का रंग नहीं बदलता
मुंबई:

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को कहा कि हमने हिंदुत्व छोड़ा नहीं है. हमारा रंग भगवा है और मन में भी भगवा है. उद्धव ठाकरे ने मुंबई के बांद्रा के बीकेसी में आयोजित वचनपूर्ति समारोह में यह बात कही. उद्धव ठकरे का यह बयान आज महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) के बदले हुए झंडे और राज ठाकरे के भाषण का जवाब माना जा रहा है. राज  ठाकरे ने उद्धव ठाकरे पर परोक्ष व्यंग्य कसते हुए कहा था ‘‘मैं सरकार बनाने के लिए मेरी पार्टी का रंग नहीं बदलता.''

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के अध्यक्ष राज ठाकरे ने गुरूवार को अपनी पार्टी का नया भगवा झंडा जारी किया. उन्होंने पाकिस्तानी, बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर करने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार को समर्थन देने की घोषणा करके संकेत दिया कि वे अपने चाचा बाल ठाकरे की राजनीतिक विरासत को आगे ले जाना चाहते हैं. राज ठाकरे ने दिवंगत शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे की जयंती के मौके पर गोरेगांव में मनसे की एक रैली को संबोधित किया.

राज ठाकरे ने कहा कि, '‘नागरिकता संशोधन कानून पर बहस हो सकती है लेकिन हमें बाहर से अवैध तरीके से देश में आए लोगों को शरण क्यों देनी चाहिए?'' महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने वाले अपने चचेरे भाई उद्धव ठाकरे पर परोक्ष व्यंग्य कसते हुए राज ठाकरे ने कहा, ‘‘मैं सरकार बनाने के लिए मेरी पार्टी का रंग नहीं बदलता.''

पाकिस्तान, बांग्लादेश के मुस्लिम घुसपैठियों को निकालने के लिए केंद्र सरकार को समर्थन देंगे : राज ठाकरे

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के नए झंडे पर छत्रपति शिवाजी महाराज की राज मुद्रा का चित्र है. पार्टी के पहले के झंडे में भगवा, नीले और हरे रंग की पट्टियां थीं. नए झंडे में शिवाजी महाराज की राज मुद्रा को अंकित करने पर शिवसेना और कुछ अन्य संगठनों ने विरोध दर्ज कराया है. राज ठाकरे ने 2006 में शिवसेना से अलग होकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना का गठन किया था.


कौन हैं अमित ठाकरे? राज ठाकरे ने किसे करवाया अपनी पार्टी में शामिल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO : शिवसेना के हिंदुत्व के मुद्दे पर कमजोर पड़ने पर मनसे आक्रामक
(इनपुट भाषा से भी)