"यह इस्तीफा...", गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी ने विजय रूपाणी पर निशाना साधा

सूत्रों ने कहा है कि विजय रूपाणी ने बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व की ओर से उनके प्रदर्शन पर असंतोष व्यक्त किए जाने के बाद इस्तीफा दे दिया

गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

बीजेपी के नेता विजय रूपाणी ने एक चौंकाने वाला कदम उठाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए सिर्फ एक साल बाकी है. रूपाणी ने संवाददाताओं से कहा कि "राज्य को नई ऊर्जा और शक्ति के साथ विकसित करने के लिए मैंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने का फैसला किया है." उन्होंने कहा कि वह पार्टी के लिए काम करना जारी रखेंगे. निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने मुख्यमंत्री रूपाणी को कोविड कुप्रबंधन के लिए दोषी ठहराया है. मेवाणी ने ट्विटर पर पोस्ट किया, "गुजरात के लोगों ने सराहना की होगी कि रूपाणी ने कोविड संकट के अपने स्मारकीय कुप्रबंधन के लिए इस्तीफा दे दिया."

मई में राज्य पर कोविड से मौतों के आंकड़े को कम करके दिखाने का आरोप लगाया गया था. जुलाई में गुजरात सरकार द्वारा संचालित एक प्रसिद्ध अस्पताल के वीडियो में एक लकवाग्रस्त कोविड रोगी के चेहरे पर चींटियों को रेंगते हुए दिखाया गया था, जिसकी जांच की गई थी. उसी महीने में कोविड अस्पतालों में अग्नि सुरक्षा मानदंडों पर शीर्ष अदालत के आदेश को उलटने के लिए एक अधिसूचना लाने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा विजय रूपाणी के नेतृत्व वाली सरकार की खिंचाई की गई थी.

विधायक मेवाणी ने कहा है कि, "यह इस्तीफा विशुद्ध रूप से 2022 के विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए और चुनावी अंकगणित का ध्यान में रखने के लिए आया है."

सूत्रों ने कहा कि रूपाणी ने पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व द्वारा उनके प्रदर्शन पर असंतोष व्यक्त करने के बाद इस्तीफा दे दिया. सूत्रों का कहना है कि यह बीजेपी द्वारा "कोर्स करेक्शन" है. बीजेपी अपने राज्यों के नेतृत्व में अनिश्चितता महसूस कर रही है और चीजों को बदलने के लिए उत्सुक है. कर्नाटक, उत्तराखंड ताजा उदाहरण हैं जहां बीजेपी ने अपने मुख्यमंत्रियों को बदल दिया है.

गुजरात के प्रमुख विपक्षी दलों कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

65 वर्षीय रूपाणी ने दिसंबर 2017 में प्रधानमंत्री मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के दर्जनों बड़े नेताओं की मौजूदगी में अपने दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ ली थी. पश्चिम भारत के इस राज्य में अगले साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं.

यह भी पढ़ें - 

गुजरात में विजय रूपाणी का इस्तीफा, बीजेपी शासित राज्यों में बीते छह माह में पद छोड़ने वाले चौथे सीएम

गुजरात के CM विजय रूपाणी के इस्तीफे के बाद BJP के पास हैं ये तीन विकल्प

विजय रूपाणी ने इस्तीफा देने के बाद कहा, पीएम मोदी के दिशानिर्देशन में गुजरात का विकास जारी रहना चाहिए


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com