उत्तर प्रदेश में हार का डर जितना बढ़ेगा, उतना ही भाजपा नेताओं को ‘‘दौरा’’पड़ेगा : अखिलेश यादव

भाजपा नेतृत्व भी समझ रहा है कि साढ़े चार साल बीत जाने पर भी उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है, इसके कामकाज से जनता में भारी विरोध है और प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है.

लखनऊ:

समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने सत्‍तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के नेताओं के राज्‍य में लगातार हो रहे दौरों पर निशाना साधते हुए शुक्रवार को कहा कि राज्य में अपनी हार सामने देखकर भाजपा के शीर्ष नेतृत्व में खलबली मच गई है और इसीलिए हर हफ्ते कोई न कोई दौड़ा चला आ रहा है. शुक्रवार को समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) (सपा) मुख्‍यालय से जारी एक बयान में अखिलेश यादव ने कहा, ''उत्तर प्रदेश में भाजपा का हार का डर जितना बढ़ेगा, उतना ही उत्तर प्रदेश में भाजपा नेताओं को ‘दौरा पड़ेगा'.''

उन्‍होंने कहा, ''भाजपा नेतृत्व भी समझ रहा है कि साढ़े चार साल बीत जाने पर भी उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है, इसके कामकाज से जनता में भारी विरोध है और प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है.'' सपा प्रमुख ने आरोप लगाया, ''राज्‍य में शिक्षा-स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं, किसान आंदोलित हैं, नौजवान हताश हैं, बेरोजगारी बढ़ी है, व्यापार चौपट है, महिलाएं अपमानित हो रही हैं और मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री जी अपने नाम की पट्टिका लगाकर चाहे जितना खुश हो लें लेकिन जनता जानती है कि भाजपा सरकार उसे धोखा दे रही है, उनके साथ छल कर रही है. ''

यादव ने दावा किया, ''लखनऊ से बलिया तक समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की रूपरेखा समाजवादी सरकार ने तैयार की, जमीन अधिग्रहण किया और समाजवादी सरकार में ही उसका शिलान्यास हो गया. द्वेषवश भाजपा सरकार ने वह काम रोक दिया और झूठी वाहवाही के लिए नए सिरे से शिलान्यास किया गया. अब उसे भाजपा अपने नए इवेंट के रूप में पेश करने जा रही है.'' 

उन्होंने कहा, ‘‘सपा सरकार के एक्सप्रेस-वे से प्रेरणा लेकर भाजपा सरकार ने नकल में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से पहले तो समाजवादी शब्द हटाया और अब उस पर विमान उतारने का ‘‘नाट्य रूपांतरण'' करने जा रही है.'' उल्लेखनीय है कि 16 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करेंगे.

इसके पहले यादव ने शुक्रवार को ट्वीट किया ''उप्र में अपनी हार सामने देखकर भाजपा के शीर्ष नेतृत्व में खलबली मच गयी है, इसीलिए हर हफ़्ते कोई न कोई दौड़ा चला आ रहा है। उप्र में भाजपा की हार का डर जितना बढ़ेगा, उतने ही उप्र में भाजपा के नेताओं के दौरे भी बढ़ेंगे. ''

उन्होंने इसी ट्वीट में कहा, ''यूपी की जनता लखीमपुर की जीप में भाजपा का पराजय जुलूस निकालेगी.'' गौरतलब है कि गत तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी जिसमें केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ''टेनी'' के पुत्र आशीष मिश्रा और उनके सहयोगियों के खिलाफ चार किसानों को जीप से कुचलने और हत्या समेत कई धाराओं में पुलिस ने मामला दर्ज किया है. आशीष और उनके सहयोगी फिलहाल जेल में हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सीटों को लेकर सपा और रालोद में अब तक सहमति नहींः अखिलेश यादव



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)