जम्मू-कश्मीर में दो साल बाद नहीं दिखेगा आतंकवाद : उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu Kashmir) के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि दो साल बाद, जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद नहीं दिखेगा, सरकार इस दिशा में काम कर रही है.

जम्मू-कश्मीर में दो साल बाद नहीं दिखेगा आतंकवाद : उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

मनोज सिन्हा ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में कानून व्यवस्था बहुत बदल गई है. (फाइल)

जम्मू:

जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu Kashmir) के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा (Lieutenant Governor Manoj Sinha) ने कहा कि दो साल बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद (Terrorism) नहीं दिखेगा. साथ ही उन्‍होंने कहा कि भारत सरकार इस दिशा में काम कर रही है. बुधवार को ईईपीसी इंडिया नॉर्दर्न रीजन एक्सपोर्ट के पुरस्कार समारोह को संबोधित करते हुए सिन्हा ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में कानून व्यवस्था बहुत बदल गई है. 

उन्‍होंने कहा, "कई लोग कानून-व्यवस्था की स्थिति को लेकर बेहद चिंतित हैं, मैं आपको बताना चाहता हूं कि स्थिति बहुत बदल गई है. कुछ तत्व कोशिश कर रहे हैं, लेकिन मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि दो साल बाद, जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद नहीं दिखेगा, सरकार इस दिशा में काम कर रही है," 

'वे हंस रहे थे'' : श्रीनगर में पिता की मौत पर रोती 13 वर्षीय कश्‍मीरी लड़की का वीडियो वायरल

बता दें कि जम्‍मू कश्‍मीर में शुक्रवार को दो अलग-अलग मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों को सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया था. सुरक्षाबलों के मुताबिक एक मुठभेड़ कुलगाम में हुई और दूसरी बेमिना में. कुलगाम में सेना और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के संयुक्‍त ऑपरेशन में शिराज अहमद और यावर अहमद को मार गिराया गया. शिराज घाटी में 2016 से सक्रिय था और मोस्‍ट वांटेड आतंकवादी था.

आतंकी को पत्‍थर से मौत के घाट उतारने वाले शख्‍स का बेटा भी श्रीनगर एनकाउंटर में मारे गए 4 में शामिल


वहीं बेमिना में सुरक्षाबलों ने हिजबुल के आतंकी आमिर रियाज  को मार गिराया था. पुलिस ने बताया था कि आमिर आत्‍मघाती हमले को अंजाम देने की फिराक में था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रवीश कुमार का प्राइम टाइम : श्रीनगर के हैदरपुरा में हुई आतंकी मुठभेड़ पर विवाद