पुणे के केमिकल प्लांट में लगी भीषण आग, 18 लोगों की मौत, कई व्यक्ति लापता

केमिकल प्लांट में ड्यूटी पर तैनात 37 कर्मचारियों में से 20 को बचा लिया गया, अग्निशमन विभाग ने कहा है कि आग पर नियंत्रण पा लिया गया है

पुणे के केमिकल प्लांट में लगी भीषण आग, 18 लोगों की मौत, कई व्यक्ति लापता

Pune में केमिकल प्लांट में भीषण आग लग गई.

नई दिल्ली:

Pune Chemical Plant Fire : महाराष्ट्र के पुणे शहर के एक केमिकल प्लांट में भीषण आग लग गई. अधिकारियों ने इस घटना में कंपनी के 18 कर्मचारियों की मौत होने की पुष्टि की है.  पुणे के घोटावडे फाटा में एक कंपनी की सैनिटाइजर (Pune Sanitizer Factory Blast) के निर्माण की इकाई में भीषण आग लग गई. स्थानीय दमकल विभाग ने NDTV  को बताया कि आग लगने के समय यूनिट के अंदर 37 कर्मचारी काम कर रहे थे. 20 श्रमिकों को बचा लिया गया है. अब तक 18 के शव बरामद किए जा चुके हैं.

आग पर काबू पाने और अंदर फंसे लोगों को बचाने के लिए स्थानीय दमकल विभाग के बहुत सारे कर्मचारी मौके पर पहुंच गए हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, पुणे में एसवीएस एक्वा टेक्नोलॉजीज (SVS Acca Technologies) के संयंत्र में कम से कम छह दमकल गाड़ियां भेजी गईं हैं.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक अग्निशमन विभाग ने कहा है कि मौके पर 18 लोगों के शव मिले हैं. पांच लोग लापता हैं. अग्निशमन विभाग के मुताबिक ड्यूटी पर तैनात 37 कर्मचारियों में से 20 को बचा लिया गया है. इस घटना में कई लोगों के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है. अग्निशमन विभाग ने कहा है कि आग पर नियंत्रण पा लिया गया है. मौके पर आठ फायर टेंडर्स मौजूद हैं. लापता लोगों की तलाश जारी है. 

एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि "कंपनी में आग लगने के बाद से उसके कम से कम 17 कर्मचारी लापता थे."

अधिकारियों ने कहा कि आग पर काबू पाने और अंदर फंसे लोगों को बचाने के लिए स्थानीय दमकल विभाग का एक बड़ा दल मौके पर मौजूद है. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, पुणे में एसवीएस एक्वा टेक्नोलॉजीज के संयंत्र में कम से कम छह दमकल गाड़ियां भेजी गईं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने पुणे में हुई घटना में प्रभावित परिवारों को आर्थिक मदद देने की घोषणा की है. प्रधनमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा है कि महाराष्ट्र के पुणे की एक औद्योगिक इकाई में आग लगने से जान गंवाने वालों के परिजनों को PMNRF की ओर से प्रत्येक को दो लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी.


इसके अलावा पीएम नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों में बिजली गिरने से जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए PMNRF की ओर से दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत की है. पीएम मोदी ने एक ट्वीट किया है कि मेरी संवेदनाएं उन सभी लोगों के साथ हैं जिन्होंने पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में बिजली गिरने से अपनों को खोया है. घायल लोग जल्द से जल्द स्वस्थ हो जाएंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बड़ी खबर : पुणे की सैनेटाइजर फैक्ट्री में आग, 18 की मौत