भारत-चीन सरहद पर तनाव बढ़ा, पूर्वी लद्दाख में दोनों ओर की सेनाओं का जमावड़ा

पीएलए ने पूरे सेक्टर में क़रीब 5000 सैनिक भेजे, ईस्टर्न लद्दाख में चीन के साथ 826 किलोमीटर के स्ट्रेच में भारत के चार ब्रिगेड

भारत-चीन सरहद पर तनाव बढ़ा, पूर्वी लद्दाख में दोनों ओर की सेनाओं का जमावड़ा

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

भारत-चीन सरहद पर विवाद बढ़ गया है. ईस्टर्न लद्दाख में दोनों सेनाओं का जमावड़ा बढ़ गया है. चीनी सेना का भारी जमावड़ा देखकर भारतीय सेना ने भी सैनिकों की तादाद बढ़ा दी है. पीएलए ने पूरे सेक्टर में क़रीब 5000 सैनिक भेजे हैं. चीन की अपने इलाके में युद्धाभ्यास की तैयारी है.

बताया जाता है कि पैंगोंग सो और फिंगर क्षेत्र में भारतीय इलाके में चीनी सैनिक घुस आए. अन्य स्थानों पर भी चीनी सैनिकों का एडवांसमेंट रोकने के लिए भारत ने भी सैनिकों की तादाद बढ़ा दी. ईस्टर्न लद्दाख में चीन के साथ 826 किलोमीटर के स्ट्रेच में चार ब्रिगेड हैं, यानी लगभग 16000 सैनिक हैं. फिंगर-4 सेक्टर में जबरदस्त तनाव के हालात बन गए हैं.

फिलहाल पैगोंग सो के उत्तर में ज़बरदस्त तनाव है. दौलत बेग ओल्डी में भारतीय सैनिकों की तादाद बढ़ा दी गई है. पूरे सेक्टर में चीन के अतिक्रमण को रोकने के लिए भारतीय सेना ने अपनी गश्त बढ़ा दी है. गलवान क्षेत्र में भी पीएलए ने भारतीय इलाके के अंदर टेंट गाड़ दिए हैं. इसी इलाके में भारतीय सेना ब्रिज का निर्माण कर रही है, जिसका चीन ने विरोध किया है. डीबीओ सेक्टर में भारत सड़क बना रहा है और एक एयरफील्ड का निर्माण करने की तैयारी भी कर रहा है.

चीन के मुताबिक यह भारत की यथास्थिति बदलने की कोशिश है. भारत का मानना है कि स्थानीय लोगों की सुविधा के लिए सड़क का निर्माण किया जा रहा है. भारत और चीन के ब्रिगेड कमांडर एक-दूसरे के संपर्क में हैं. राजनैतिक, राजनयिक, कूटनीतिक और सैन्य, हर स्तर पर बातचीत हो रही है. ऐसा समाधान खोजने का प्रयास हो रहा है जो दोनों देशों को मान्य हो. हालांकि अब तक हुई बातचीत में ज़्यादा प्रगति नहीं हुई है. मुद्दे पर सबने चुप्पी साध रखी है.


VIDEO : भारतीय सेना की गश्त में बाधा डाल रहा चीन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com