तेजस्‍वी यादव बोले, 'बिहार में कोरोना की स्थिति विस्‍फोटक, चुनाव कराने का अभी सही माहौल नहीं'

तेजस्वी यादव का मानना है कि राज्य में जानबूझकर कोरोना की टेस्टिंग कम कराई जा रही है,

तेजस्‍वी यादव बोले, 'बिहार में कोरोना की स्थिति विस्‍फोटक, चुनाव कराने का अभी सही माहौल नहीं'

तेजस्‍वी यादव ने कहा, बिहार में कोरोना मामलों में स्थिति विस्‍फोटक होती जा रही है

पटना:

Coronavirus Pandemic: बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के एक संबंधी के कोरोना पॉज़िटिव (Corona Positive) होने की ख़बर मंगलवार को आई. बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने इस खबर को आधार बनाते हुए कहा कि जब मुख्यमंत्री आवास तक कोरोना वायरस पहुंच गया है तब सहज ही यह अनुमान लगाया जा सकता है कि राज्य में स्थिति कितनी विस्फोटक हैं. उन्होंने यहां तक कह दिया कि फ़िलहाल राज्य में चुनाव कराने का सही माहौल नहीं है. तेजस्वी मंगलवार को पटना में पार्टी कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.  उन्होंने नीति आयोग द्वारा ज्य में स्वास्थ्य सेवाओं के संबंध में आंकड़ों को मीडिया के सामने पेश किया और उन्होंने सरकार से इन पर सफ़ाई मांगी कि आख़िर 15 वर्षों के शासन के बाद भी केंद्र की एक महत्वपूर्ण एजेंसी राज्‍य को फिसड्डी क्यों मान रही है.


तेजस्वी यादव का बार-बार यही कहना था कि राज्य में जानबूझकर कोरोना की टेस्टिंग कम कराई जा रही है, तेजस्वी के अनुसार, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में उन्होंने रैंडम टेस्टिंग की मांग की थी. शुरू में कुछ दिनों तक ऐसा किया गया लेकिन बाद में इसे स्थगित कर दिया गया. उन्होंने कहा कि चुनावी माहौल बनाने के लिए एक और वर्चुअल रैली और डिजिटल रैली का आयोजन किया जा रहा है वहीं दूसरी ओर लोग कोरोना की जांच के लिए क़तार में खड़े हैं.अस्पताल में उनका ठीक से इलाज नहीं हो रहा है. जाँच की संख्या बढ़ाने की बजाय घटाई जा रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पूर्व उप मुख्‍यमंत्री तेजस्वी ने कहा कि आख़िर चुनाव कराने की इतनी जल्दबाजी क्या है? सरकार आख़िर इस संक्रमण से निपटने के लिए ठोस उपायों पर ज़्यादा ध्यान क्यों नहीं दे रही है? उन्‍होंने कहा कि हर दिन यह ख़बर आती है कि मुख्यमंत्री नीनीतीश कुमार और उनके पार्टी के अन्य सहयोगी एक हफ़्ते तक वर्चुअल रैली करेंगे, लेकिन आम जनता को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है.