पीयूष जैन के 2 ठिकानों पर एक हफ्ते चली 'टैक्स रेड': 200 करोड़ कैश, 23KG सोना समेत ये सामान बरामद

अधिकारियों ने पीयूष जैन के कानपुर आवास पर 22 दिसंबर को छापेमारी शुरू की थी जो  29 दिसंबर को कन्नौज में पूरी हुई. यानी पूरे एक हफ्ते छापेमारी चलती रही. इस दौरान कैश गिनने के लिए स्टे बैंक से मशीनें मंगवाई गई थी और बैंक के अधिकारी भी बुलाए गए थे.

लखनऊ:

पिछले कई दिनों से समाचारों की सुर्खियां बने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इत्र कारोबारी पीयूष जैन (Piyush Jain) के घर टैक्स छापेमारी (Tax Raids) पूरी हो गई है. उसके ठिकानों से अधिकारियों ने करीब 200 करोड़ रुपये नकद बरामद किए हैं. ये छापेमारी कानुर और कन्नौज में हुई थी. पीयूष जैन को कानपुर में गिरफ्तार किया जा चुका है और वह फिलहाल जेल में है.

आयकर विभाग के अधिकारियों ने पीयूष जैन के ठिकानों से कुल 196 करोड़ रुपये नकदी के अलावा 23 किलो सोना और 600 किलो चंदन का तेल भी बरामद किया है. बरामद 23 किलो सोने की कीमत 11 करोड़ रुपए और 600 किलो चंदन का तेल का बाजार मूल्य 6 करोड़ रुपये बताया गया है.

जानें कौन हैं Piyush Jain, जिनके घर से रेड में मिली अकूत दौलत, आज भी चलते हैं पुराने स्कूटर से

अधिकारियों ने पीयूष जैन के कानपुर आवास पर 22 दिसंबर को छापेमारी शुरू की थी जो  29 दिसंबर को कन्नौज में पूरी हुई. यानी पूरे एक हफ्ते छापेमारी चलती रही. इस दौरान कैश गिनने के लिए स्टे बैंक से मशीनें मंगवाई गई थी और बैंक के अधिकारी भी बुलाए गए थे.

पीयूष जैन से सपा का कोई संबंध नहीं, भाजपा ने गलती से अपने ही व्यवसायी पर मारा छापा : अखिलेश

यूपी विधानसभा चुनाव के पहले इत्र कारोबारी के घर छापेमारी में 200 करोड़ रुपये की बरामदगी बड़ा सियासी मुद्दा बनती जा रही है. इस बहाने बीजेपी और सपा के बीच जुबानी जंग तीखी हो गई है. मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अखिलेश यादव 30 किलोमीटर की दूरी पर थे और इत्र कारोबारी को लेकर दोनों ने एक-दूसरे पर निशाना साधा. कानपुर में पीएम मोदी ने इत्र कारोबारी पीयूष जैन को समाजवादी पार्टी से जोड़ा. साथ ही सभी योजनाओं का क्रेडिट लेने को लेकर अखिलेश यादव पर तंज भी कसा.

वीडियो: पुरानी स्कूटर पर चलने वाले पीयूष जैन के पास कहां से आई अकूत दौलत? हैरत में लोग

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com