Tamil Nadu election results 2021 updates: तमिलनाडु में DMK बहुमत के आंकड़े के पार

Tamil Nadu election results 2021 updates: तमिलनाडु (Tamil Nadu) में विधानसभा चुनावों (Assembly Elections 2021) के रुझानों में एमके स्‍टालिन की डीएमके स्‍पष्‍ट बहुमत हासिल कर चुकी है. .

Tamil Nadu election results 2021 updates: तमिलनाडु में DMK बहुमत के आंकड़े के पार

Tamil Nadu election results 2021 updates: तमिलनाडु में 6 अप्रैल को वोटिंग हुई थी

नई दिल्ली:

तमिलनाडु चुनाव नतीजे: तमिलनाडु में एक दशक के बाद ऑल इंडिया अन्नाद्रविड़ मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) की सत्ता से विदाई सुनिश्चित कर द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के नेतृत्व वाला गठबंधन सत्ता में वापसी कर रहा है. तमिलनाडु में एक दशक तक सत्ता में रहने के बाद अन्नाद्रमुक हार की तरफ बढ़ती नजर आ रही है. वह 234 सदस्यीय विधानसभा की सिर्फ 80 सीटों पर आगे है. प्रदेश में विपक्षी द्रमुक की अगुवाई वाला गठबंधन सरकार बनाने की स्थिति में नजर आ रहा है. द्रविड़ मुनेत्र कषगम 121 सीटों पर जबकि उसकी सहयोगी कांग्रेस 16 सीटों पर आगे है. राज्य में यह पहला चुनाव है जिसमें द्रमुक एम करुणानिधि और अन्नाद्रमुक जयललिता की गैरमौजूदगी में चुनाव लड़ रही हैं. दोनों नेताओं का कुछ साल पहले निधन हो गया. चुनाव आयोग ने विजय जुलूस निकालने और भीड़ जमाकर जश्न बनाने पर रोक लगाई है, लेकिन कई स्थानों पर कुछ पार्टियों के कार्यकर्ता जीत का जश्न मनाते देखे गए.

Assam Election Results 2021 Updates: असम में शुरुआती रुझानों में BJP को बढ़त


राज्‍य में एक्जिट पोल डीएमके के पक्ष में एकतरफा जीत का ऐलान कर रहे थे लेकिन शुरुआती रुझान में तो मुकाबला कांटे का नजर आ रहा है. अगर एक्ज‍िट पोल्स की बात करें तो तमिलनाडु में डीएमके शान के साथ सत्‍ता में वापसी कर सकती है. NDTV के पोल ऑफ एक्ज‍िट पोल्स के अनुसार एमके स्‍टालिन की DMK और सहयोगी 234 में से कम से कम 171 सीटें सकते हैं जबकि मौजूदा समय में राज्‍य में सत्‍तारूढ़ AIADMK और उसके सहयोगी 59 सीटों तक ही सिमट सकते हैं. टीटीवी दिनाकरण की AMMK को दो सीटें मिल सकती हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राज्‍य विधानसभा की 234 सीटों के लिए मतदान हुआ है. कद्दावर नेता जे. जयललिता और एम करुणानिधि के निधन के बाद राज्‍य में यह पहला विधानसभा चुनाव है. तमिलनाडु के इन दोनों करिश्‍माई बड़े नेताओं के निधन से राज्‍य की सियासत में काफी बदलाव आया है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)