शिवपाल सिंह यादव इटावा की जसवंत नगर सीट से लड़ेंगे चुनाव, सपा-प्रसपा में बनी सहमति

शिवपाल की इस सीट पर पहले से ही बहुत पकड़ है. वे 1996 से यहां से विधायक रहे हैं. उनसे पहले चार लगातार टर्म्स के लिए इस सीट से मुलायम सिंह यादव विधायक रहे थे.

शिवपाल सिंह यादव इटावा की जसवंत नगर सीट से लड़ेंगे चुनाव, सपा-प्रसपा में बनी सहमति

जसवंत नगर विधानसभा सीट से शिवपाल सिंह यादव सपा व प्रसपा गठबंधन के प्रत्याशी होंगे.

लखनऊ:

उत्तरप्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले पार्टियों के बीच उठापटक का दौर जारी है. प्रदेश में फिर से सत्ता में लौटने के लिए ऐड़ी चोटी का जोर लगा रहे अखिलेश यादव और उनकी समाजवादी पार्टी इन दिनों छोटे दलों के साथ गठबंधन कर रही है. इसी बीच सपा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन को लेकर पक्की नजर आ रही है. समाजवादी पार्टी ने शनिवार को ट्वीट कर जानकारी दी कि इटावा की जसवंत नगर विधानसभा सीट से शिवपाल सिंह यादव सपा व प्रसपा गठबंधन के प्रत्याशी होंगे. चाचा भतीजे की जोड़ी इस सीट पर जीत हासिल करने के लिए सारे जोर लगा रही है. शिवपाल की इस सीट पर पहले से ही बहुत पकड़ है. वे 1996 से यहां से विधायक रहे हैं. उनसे पहले चार लगातार टर्म्स के लिए इस सीट से मुलायम सिंह यादव विधायक रहे थे.

गौरतलब है कि अखिलेश यादव ने पिछले साल दिसंबर में चाचा शिवपाल यादव की पार्टी प्रसपा के साथ गठबंधन का ऐलान किया था. अखिलेश खुद चाचा से मिलने उनके घर गए थे, जहां दोनों की बातचीत के बाद इस गठबंधन का ऐलान किया गया था.

अखिलेश इस चुनाव के लिए अलग अलग जातियों में असर रखने वाली छोटी बड़ी पार्टियों के साथ गठबंधन कर रहे हैं. अब तक वे राष्‍ट्रीय लोकदल, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, महान दल, जनवादी पार्टी (सोशलिस्‍ट), अपना दल (Kamerawadi) और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन कर लिया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उल्लेखनीय है कि मौजूदा समय में जसवंत नगर विधानसभा क्षेत्र से शिवपाल सिंह यादव विधायक भी हैं. वर्ष 2016 में मुख्यमंत्री रहते अखिलेश यादव ने अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव को मंत्रिमंडल से हटा दिया था जिसके बाद कलह बढ़ गई थी. मतभेद के बाद शिवपाल सिंह यादव ने अपने भतीजे सपा प्रमुख अखिलेश यादव से अलग होकर वर्ष 2018 में नई पार्टी बना ली थी.