Share Market: शेयर बाजार धड़ाम! सेंसेक्स 1,100 से ज्यादा अंकों की जबरदस्त गिरावट के साथ बंद

Sensex, Nifty Today : सेंसेक्स ने आज क्लोजिंग बेल तक 1,100 से ज्यादा अंकों की गिरावट देखी. निफ्टी भी लुढ़ककर14,700 के लेवल से नीचे आ गया है. BSE और NSE के दोनों बेंचमार्क इंडेक्स लगातार पांचवें दिन गिरावट के साथ बंद हुए हैं.

Share Market: शेयर बाजार धड़ाम! सेंसेक्स 1,100 से ज्यादा अंकों की जबरदस्त गिरावट के साथ बंद

शेयर बाजार में सेंसेक्स ने लिया नोज़डाइव, निफ्टी भी लुढ़का. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

Share Market Today : सोमवार को घरेलू शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट देखी गई है. सेंसेक्स ने आज क्लोजिंग बेल तक 1,100 से ज्यादा अंकों की गिरावट देखी. निफ्टी भी लुढ़ककर 14,700 के लेवल से नीचे आ गया है. BSE और NSE के दोनों बेंचमार्क इंडेक्स लगातार पांचवें दिन गिरावट के साथ बंद हुए हैं. सेंसेक्स 50,000 के नीचे आकर रुका है.

बाजार बंद होने के साथ सेंसेक्स 1,145.44 अंकों यानी 2.25% की गिरावट लेकर 49,744.32 पर रुका. वहीं निफ्टी में 306.10 अंकों यानी 2.04% की गिरावट दर्ज की गई. निफ्टी आज 14,675.70 के आंकड़े पर बंद हुआ है.

बता दें कि आज मार्केट ओपनिंग में बेंचमार्क इंडेक्स हल्की तेजी के साथ खुले थे, लेकिन सेंसेक्स ने बड़ा नोज़डाइव लिया है. पिछले कारोबारी हफ्ते में काफी गिरावट देखी गई थी. दोपहर के कारोबार के दौरान सेंसेक्स तेजी से गिरने लगा. 14:23 बजे सेंसेक्स 1089.36 अंक की गिरावट के साथ 50,000 से नीचे 49800.40 पर पहुंच गया था. ठीक इसी वक्त, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का सूचकांक निफ्टी भी 291.15 अंक लुढ़कने के साथ 14690.60 पर कारोबार कर रहा था.

ओपनिंग के बाद लगभग 996 शेयरों में तेजी आई थी, वहीं 409 शेयरों ने गिरावट दर्ज की थी. 92 शेयरों में कोई बदलाव दर्ज नहीं किया गया. ओपनिंग में 30 शेयरों वाले सेंसेक्स के 20 शेयर हरे निशान में खुले.

इस हफ्ते की कारोबारी दिशा पर विश्लेषकों का कहना है कि शेयर बाजार इस सप्ताह किसी बड़ी घरेलू घटना के अभाव में वैश्विक रुझानों का अनुसरण करेंगे और अनुमान है कि इस दौरान बाजार की चाल सीमित दायरे में रहेगी. विश्लेषकों ने बताया कि मासिक डेरिवेटिव सौदों को काटने के चलते उतार-चढ़ाव भी देखने को मिल सकता है. 


इक्विटी शोध कंपनी सैमको सिक्योरिटीज की प्रमुख निराली शाह ने कहा कि बाजारों के सुस्त और सीमित दायरे में बने रहने का अनुमान है. उन्होंने कहा कि निवेशकों को प्रमुख सूचकांकों में सावधानी से कारोबार करना चाहिए और वैश्विक बाजारों में किसी भी घटनाक्रम को ध्यान में रखना चाहिए. आम बजट के बाद बाजार में तेजी देखने को मिली थी, लेकिन पिछले सप्ताह मुनाफा वसूली हावी हुई. विश्लेषकों ने यह भी कहा कि ब्रेंट क्रूड में तेजी, रुपये की चाल और विदेशी संस्थागत निवेशकों के रुख से बाजार की धारणा प्रभावित होगी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(भाषा से इनपुट के साथ)