ममता बनर्जी के सामने लगे 'जय श्री राम' के नारे पर बोले संजय राउत- 'यकीन है दीदी को भी भगवान राम में आस्था है'

नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में ममता बनर्जी के सामने जय श्री राम के नारे लगने वाली घटना पर संजय राउत ने कहा कि यह नारा कोई राजनीतिक नारा नहीं है और इससे किसी धर्मनिरपेक्षता खतरे में नहीं आती है.

ममता बनर्जी के सामने लगे 'जय श्री राम' के नारे पर बोले संजय राउत- 'यकीन है दीदी को भी भगवान राम में आस्था है'

ममता बनर्जी के सामने लगे 'जय श्री राम' के नारे वाली घटना पर राउत ने की टिप्पणी. (फाइल फोटो)

मुंबई:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के ‘जय श्री राम' के नारे लगने के बाद कार्यक्रम में बोलने से इनकार करने पर शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा कि इस नारे से किसी को नाराज नहीं होना चाहिए. राउत ने सोमवार को पत्रकारों से कहा कि उन्हें यकीन है कि ममता बनर्जी को भी भगवान राम में विश्वास है.

बता दें कि शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में ‘जय श्रीराम' के नारे लगने के बाद ममता बनर्जी ने कार्यक्रम को संबोधित करने से इनकार कर दिया था. ममता ने कहा था कि ऐसा ‘अपमान' स्वीकार नहीं है. राउत ने कहा, ‘देश में किसी को भी ‘जय श्री राम' कहने से नाराज नहीं होना चाहिए.‘

उन्होंने कहा, ‘जय श्री राम कहने से किसी की धर्मनिरपेक्षता खतरे में नहीं आएगी. हमारा मानना है कि भगवान राम देश का गौरव हैं.' राज्यसभा सांसद ने कहा, ‘जय श्री राम कोई राजनीतिक शब्द नहीं हैं. यह हमारे विश्वास की बात है और मुझे यकीन है कि ममता दीदी को भी भगवान राम में विश्वास है.'

यह भी पढ़ें : जिस समारोह में CM ममता के सामने लगे थे 'जय श्री राम' के नारे, क्या उसके पीछे थी BJP की चाल?

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना' के एक संपादकीय में यह भी कहा गया कि कार्यक्रम के दौरान कुछ लोगों द्वारा ‘जय श्री राम' का नारा लगाए जाने पर बनर्जी को नाराज नहीं होना चाहिए था. उसने कहा, 'बल्कि अगर वह भी उनके साथ शामिल हो जातीं, तो बात पूरी तरह पलट जाती. लेकिन हर कोई अपने ‘वोट बैंक' को रिझाने में लगा है.'

उसने कहा कि बीजेपी ने बनर्जी की ‘कमजोरी' पहचान ली है और विधानसभा चुनाव होने तक वह ऐसे संवेदनशील मुद्दों को भुनाता रहेगा. संपादकीय में अप्रत्यक्ष रूप से बीजेपी पर भी निशाना साधा गया है और उस पर राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी नीत पार्टी को मात देने के लिए तृणमूल नेताओं की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया.


संपादकीय में साथ ही यह भी कहा गया कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी के 18 लोकसभा सीट पर जीत दर्ज करना ममता बनर्जी के लिए चिंता की बात है. उसने कहा, ‘लेकिन ममता बनर्जी बंगाल की शेरनी है, जो हमेशा लड़ती आई हैं और आगे भी लड़ाई जारी रखेंगी.'

जब नारेबाजी से नाराज हो गईं ममता बनर्जी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)